• 667
    Shares

उन्नाव में एक बेटी के साथ की गई बर्बरता ने पूरे देश को झकझोर दिया है। इसके साथ ही योगी सरकार में लचर कानून व्यवस्था और गुंडों को संरक्षण देने वाले लिए पुलिस प्रशासन की पोल खुली गई है।

सरकार की इसी गैर-जिम्मेदाराना रवैया से नाराज होते हुए विपक्षी दल हमलावर हो गया है। अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कई ट्वीट के जरिए योगी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्नाव की बेटी को मार दिया लेकिन देश में कोई गुस्सा नहीं क्योंकि आरोपी मुस्लिम नहीं त्रिवेदी हैं

उन्होंने लिखा- उन्नाव की दिवंगत पीड़िता का परिवार अपार दुःख और गुस्से में है। साल भर से इस परिवार पर अत्याचार हो रहा था। पीड़िता के पिता को घर में घुसकर पीटा। उनका खेत जला दिया। उनकी 9 साल की पोती को स्कूल में जान से मारने की धमकी दी। महीनों केस दर्ज करने से अधिकारी टरकाते रहे।

राएबरेली कोर्ट के आदेश पर FIR हुई मगर दो महीने के अंदर ही आरोपी को बेल मिल गई। पीड़िता रोज अकेले ट्रेन से राएबरेली अपना केस लड़ने जाती थी। उसे लगातार धमकाया जाता रहा। थाने में बार-बार गुहार लगाने के बाद भी उसे कोई सुरक्षा नहीं मिलती। और एक दिन पाँच लोग मिलकर उसे जला देते हैं।

हैदराबाद की तरह उन्नाव की बेटी को जिंदा जलाने वालों के नाम के मीम देखे? जिनमें त्रिवेदी लिखा हो?

आखिर इसका जिम्मेदार कौन है? कोई तो जिम्मेदारी लेगा? सरकार किसके साथ खड़ी है? मुख्यमंत्री किसके साथ खड़े हैं? तंत्र किसके साथ खड़ा है? उप्र में लड़कियों और महिलाओं के लिए कोई जगह है? ये इंतिहा हो रही है जुल्म की।

दरअसल उन्नाव में रेप पीड़िता जब गवाही देने के लिए कोर्ट जा रही थी तो रास्ते में उस पर मिट्टी का तेल छिड़ककर दबंगों ने आग लगा दी। इस घटना में युवती बुरी तरह से झुलस गई।

बाद में डॉक्टरों ने कहा कि शरीर का 95% हिस्सा चल चुका है। युवती को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया था लेकिन देर रात खबर आई कि उसने दम तोड़ दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here