देश में बढ़ रही महंगाई के मुद्दे को संसद में विपक्षी दलों द्वारा उठाया जा रहा है। इस कड़ी में आज राहुल गांधी समेत विपक्षी नेता साइकिल से संसद पहुंचे हैं।

इसके अलावा संसद में सरकार को पेगासस जासूसी मामले पर घेरने के लिए राहुल गांधी द्वारा एक बैठक बुलाई गई है। जिसमें विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए हैं।

शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि आने वाले वक्त में विपक्षी दल एक साथ आकर भाजपा की गलत नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोलेंगे।

इस वक्त विपक्षी दलों का एक साथ मिलकर चलना बहुत जरूरी है। अपनी इसी जिममेदारी को समझते हुए सारे विपक्षी दल एक साथ होकर प्रजातंत्र और लोकतंत्र का जो हनन हो रहा है। उसकी बात प्रखरता से रख रहे हैं।

आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई विपक्षी नेता साइकिल से संसद पहुंचे हैं। इस पर शिवसेना नेता ने कहा है कि पेट्रोल के दाम आज 100 रुपए प्रति लीटर से ऊपर जा पहुंचे हैं। पहले सत्ता पक्ष के नेता पेट्रोल के दाम 60 से 70 रुपए तक पहुंचने पर हंगामा मचाते थे।

आज देश में पेट्रोल की कीमत 100 रुपए प्रति लीटर से ऊपर जा चुकी है। जनता के लिए महंगाई बढ़ा जा रही है। जनता की जेब खतरे में है। लेकिन सरकार इस मामले पर बिल्कुल भी गंभीरता नहीं दिखा रही है।

सरकार संसद में इस मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार नहीं है। राहुल गांधी के साइकिल से संसद जाने से पूरे देश की जनता को यह संदेश जा रहा है कि हम उनके लिए एक साथ आकर खड़े हैं और जनता की आवाज हम सब उठाते रहेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी अपना पक्ष रख सकते हैं। लेकिन सरकार को अपनी एक जिम्मेदारी समझनी चाहिए कि जनता ने आप को जनता से चुना है।

आप अपनी जिम्मेदारी से हटकर मनमानी कर रहे हैं। अगर सरकार को जनता नहीं बनाया है तो जनता ही सरकार को गिराने का काम भी कर सकती है।

आपको बता दें कि संसद में चल रहे मानसून सत्र के दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष में कई मुद्दों पर गतिरोध चल रहा है। सत्तापक्ष कई मुद्दों पर बहस करने से भाग रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × three =