महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने विजयदशमी के मौके पर जनता के नाम संबोधन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला।

उनका कहना है कि अगर भाजपा ने राज्यों में दूसरे राजनीतिक दलों की सरकार गिराने की कोशिश की बजाय अर्थव्यवस्था में सुधार करने की कोशिश की होती तो आज स्थिति कुछ और होती। आज देश में अराजकता फ़ैल रही है।

शिवसेना पर हिंदुत्व के मुद्दे पर आरोप लगाने के मामले में ठाकरे ने कहा कि हमारी पार्टी का हिंदुत्व राष्ट्रवाद के बारे में हैं। राज्य के हर शख्स की जान बचाने में हैं। न कि घंटियां बजाने और थाली पीटने में।

भाजपा शिवसेना के हिंदुत्व पर सवाल उठा सरकार और मुंबई पुलिस की छवि खराब करने की कोशिश कर रही है।

सीएम उद्धव ठाकरे ने भारतीय जनता पार्टी पर कोई विचारधारा, आदर्श और संस्कृति नहीं होने का आरोप लगाया है। देश में कोरोना जैसी महामारी फैली हो और एक पार्टी उस पर भी ऐसी राजनीति करें यह शर्मनाक है।

भाजपा ने महाराष्ट्र में सरकार गिराने की कई बार कोशिश की है। लेकिन जब आपकी ही नहीं पत्थर कमजोर है। आपके पास कोई विचारधारा नहीं है।

तो ऐसी सरकार ज्यादा देर तक टिक नहीं पाती। मैं फिर से भाजपा को हमारी सरकार को चुनौती देने के लिए चुनौती देता हूं। लेकिन पहले अपनी सरकार की रक्षा करें।

शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने जिस तरह से इन मुद्दों को उठाया। उसपर वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने प्रतिक्रिया देते हुए उनकी तारीफ़ की है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “मैं कभी शिवसेना का प्रशंसक नहीं रहा, लेकिन जिस तरीके से महाराष्ट्र के सीएम बनने के बाद से उद्धव ठाकरे ने खुद को संचालित किया है। वह दिल को छूने वाला है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × two =