प्रधानमंत्री मोदी ने आज वाराणसी से अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। इस दौरान एनडीए के सभी नेता उनके साथ मौजूद रहे। चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में मोदी ने अपनी आय से लेकर पढ़ाई के बारे में बताया है। जैसे वो कितना पढ़े है उनके पास कितना पैसा और प्रॉपर्टी है और उनकी पत्नी की आय क्या है।

पीएम मोदी ने हलफनामे में बताया है कि उनके पास गुजरात के गांधीनगर में एक आवासीय भूखंड, 1.27 करोड़ रुपये की सावधि जमा (FD) और 38,750 रुपये नकद सहित कुल 2.5 करोड़ रुपये की संपत्ति है।

जिसमें पिछले पांच साल में 85 लाख का इजाफा हुआ है। साल 2014 में जब उन्होंने पहली बार वाराणसी से अपना नामांकन पत्र भरा था तब उनके पास कुल 1/65 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की थी।

स्वामी बोले- मोदी के बनारस आने से पहले गंगा ‘माई’ थी अब इन लोगों के लिए ‘कमाई’ हो गई है

खुद को फ़क़ीर और सन्यासी बताने वाले पीएम मोदी के पास 1.41 करोड़ रुपये की चल संपत्ति और 1.1 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है। वहीं उन्होंने टैक्स सेविंग इन्फ्रा बॉन्ड्स में 20,000 रुपये, राष्ट्रीय बचत प्रमाण-पत्र (NSC) में 7.61 लाख रुपये और LIC की पॉलिसियों में 1.9 लाख रुपये का निवेश किया हुआ है।

उनके पास सोने की चार अंगूठियां हैं, जिनका वजन 45 ग्राम है। इनकी कीमत 1.13 लाख रुपये है। पीएम मोदी के सेविंग अकाउंट में नकद शेष 4,143 रुपये है।

वहीं गुजरात के गांधीनगर के सेक्टर-1 में 3,531 वर्ग फुट का प्लॉट है। शपथ पत्र के अनुसार, इस संपत्ति का अनुमानित मूल्य, जिसमें भूखंड पर एक आवासीय इकाई शामिल है, 1.1 करोड़ रुपये बताया गया है।

कितना पढ़े है मोदी?

उनकी डिग्री को लेकर विपक्षी दल सवाल उठाते रहें है। पीएम मोदी ने इसका जवाब भी दिया है। PM मोदी ने बताया कि और 1967 में गुजरात बोर्ड से SSC की परीक्षा पास की है। उन्होंने सन 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से कला में ग्रेजुएशन किया और सन 1983 में गुजरात विश्वविद्यालय से एमए की डिग्री हासिल की है।

PM मोदी ने जशोदाबेन को बताया अपनी पत्नी

हलफनामे के मुताबिक, मोदी ने जशोदाबेन को अपनी पत्नी बताया है। इसे लेकर भी काफी विवाद हो चुका है। क्योंकि उन्होंने साल 2014 के लोकसभा के वक़्त भी जशोदाबेन को अपनी पत्नी बताया था।

मगर उससे पहले गुजरात विधानसभा चुनाव में उन्हें पत्नी नहीं बताया था। मगर पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी उन्होंने जशोदाबेन को अपनी पत्नी बताया है। उन्होंने अपने हलफनामे में ये भी साफ़ किया है कि उनकी पत्नी की आय के स्त्रोत के बारे में उन्हें ज्ञात नहीं है। साथ ही ये भी बताया है कि उनके खिलाफ कोई आपराधिक केस लंबित नहीं है और न ही उन पर कोई सरकारी बकाया राशि है।