जम्मू कश्मीर में बीते कई दिनों से आतंकी आम नागरिकों को निशाना बना रहे हैं। अब तक कश्मीर के कई हिस्सों में कई नागरिकों को मारा जा चुका है जिसकी वजह से घाटी में दहशत का माहौल बना हुआ है।

सोशल मीडिया पर भी कश्मीर में हो रही टारगेट किलिंग का मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है। खुफिया जानकारी के मुताबिक, आईएसआई ने 200 लोगों की हिट लिस्ट तैयार की है।

जिसमें कई कश्मीरी पंडित, नेता, मीडिया से जुड़े लोग और उद्योगपति के साथ-साथ गैर स्थानीय लोग शामिल हैं।

जिन्हें आतंकियों द्वारा निशाना बनाया जा रहा है। अब तक मारे जा चुके चुके नागरिकों में अल्पसंख्यक ज्यादा हैं।

इस मामले में केंद्र सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ चुकी है। कश्मीर में इस वक्त सुरक्षाबलों द्वारा आतंकियों को ढेर करने के लिए ताबड़तोड़ ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं।

इस मामले में जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “बीजेपी के सुशील मोदी जी ने कहा था धारा 370 के खत्म होने से लाखों बिहारियों को रोज़गार मिलेगा। रोजगार तो नहीं मिला, मौत मिल रही है। ऐसे नाकाम नेताओं को थोड़ी भी शर्म है तो राजनीति से सदा के लिए संन्यास ले लेना चाहिए।

दरअसल कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा निशाना बनाए जाने वाले लोगों में उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग भी शामिल है।

श्रीनगर में आतंकवादियों ने गोलगप्पे बेचने वाले एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी। जोकि बिहार के बांका का निवासी था। इसके बाद बिहार के एक मजदूर राजा देव की कुलगाम के वानपोह में गोली मारकर हत्या की गई।

गौरतलब है कि जब केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाई गई थी और विशेष राज्य का दर्जा वापस लिया गया था।

तो उसके बाद मोदी सरकार द्वारा कई बड़े दावे किए गए थे। जिसमें से एक था कि अब जम्मू कश्मीर में अन्य राज्यों के लोगों को भी रोजगार मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − six =