नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के ज़रिए बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर निकालने का दावा करने वाली बीजेपी के अपने नेता बांग्लादेशी निकले हैं।

मुंबई पुलिस ने उन्हें भारतीय नागरिकता के फर्ज़ी दस्तावेज़ों के साथ गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार किए गए शख़्स का नाम रुबेल शेख है, जो उत्तरी मुंबई में बीजेपी के माइनॉरिटी सेल का अध्यक्ष है। मामला सामने आने के बाद बीजेपी विपक्ष के निशाने पर आ गई है।

कांग्रेस ने इस मामले को लेकर बीजेपी पर ज़ोरदार हमला बोला है। कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट किया है और इसे बीजेपी का संघ जिहाद बताया है।

उन्होंने लिखा कि कुछ बीजेपी नेता गोमाता की तस्करी करते हुए पाए गए थे तो कुछ की पहचान आईएसआई एजेंट के तौर पर हुई है। अब यह रुबेल शेख हैं। एक बांग्लादेशी नागरिक, जो बीजेपी में माइनॉरिटी सेल के अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहा था।

क्या बीजेपी के लिए नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) में कोई अलग प्रावधान किया गया है। देश के लिए एक कानून, बीजेपी के लिए एक अलग कानून बनाए गए हैं?

ग़ौरतलब है कि मुंबई पुलिस ने रुबेल शेख को पिछले हफ्ते गिरफ्तार किया था। वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर भालेराव शेखर ने जानकारी देते हुए कहा कि एक शख्स नकली कागजात के साथ पकड़ा गया है, फिलहाल उसे न्यायिक हिरासत में रखा गया है।

पुलिस की माने तो रुबेल शेख बांग्लादेश के जसूर जिले के बोवलिया गांव का रहने वाला है। रुबेल 2011 में बिना किसी कागज के साथ भारत में दाखिल हो गया था और वो भाजपा के लिए काम करता रहा। शेख ने बाद में फर्जी दस्तावेज के आधार पर यहां के कागज़ात तैयार करवा लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve + 1 =