उत्तर प्रदेश में जंगलराज कायम है। आगरा में बार काउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष दरवेश यादव की उनके साथी वकील ने गोली मारकर हत्या कर दी है। दरवेश यादव को गोली मारने के बाद साथी वकील मनीष ने खुद को भी गोली मार ली।

कोर्ट परिसर में दरवेश यादव की हत्या पर उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट करके योगी सरकार पर जोरदार हमला किया है। मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा है कि, “यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की आगरा कोर्ट परिसर में जघन्य हत्या अति दुखद है।”

बसपा प्रमुख ने आगे शामली में पत्रकार अमित शर्मा की पुलिसवालों द्वारा की गई पिटाई को लेकर लिखा है कि, “शामली में पुलिस द्वारा पत्रकारों की अकारण पिटाई जैसे घटनाएं साबित करती हैं कि लोकसभा चुनाव के बाद बीजेपी के शासन में अराजकता और जंगलराज और भी ज्यादा बढ़ गया है।”

मामला थाना न्यू आगरा क्षेत्र के कचहरी परिसर का है। यहां सम्मान समारोह के बाद साथी वकील मनीष ने लाइसेंसी पिस्टल से दरवेश यादव को गोली मार दी। उसके बाद उसने खुद को भी गोली मार आत्महत्या कर ली।

दोनों को फौरन जिला अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन डॉक्टरों ने दरवेश यादव को मृत घोषित कर दिया। वहीं मनीष की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। बता दें कि दो दिन पहले ही दरवेश यादव बार काउंसिल की अध्यक्ष चुनी गईं थीं।

अब इसे मात्र एक संयोग कहा जाए या फिर एक सोची समझी साजिश लोकसभा चुनाव और मोदी सरकार-दो के गठन के बाद उत्तर प्रदेश में हत्याकांड का एक दौर सा चल पड़ा है। रामराज्य लाने की बात करने वाले सीएम योगी आदित्यनाथ के राज में जंगलराज व्याप्त हो गया है।