• 4.3K
    Shares

अमेरिकी समाचार नेटवर्क सीएनएन ने व्हाइट हाउस पर केस कर दिया है। CNN ने अपने पत्रकार जेम जिम एकोस्टा की मान्यता रद्द किए जाने के मामले में ट्रंप प्रशासन के ख़िलाफ मुकदमा दायर करते हुए कहा है कि एकोस्टा के साथ जो कुछ भी हुआ वो संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन है।

जिम एकोस्टा सीएनएन के करीब 50 हार्ड पास धारकों में से एक हैं।

CNN के इस कदम पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भारत की मीडिया से तुलना की है। सिसोदिया ने सोशल मीडिया पर लिखा- यही अंतर है मीडिया और गोदी-मीडिया में।

गौरतलब हो कि सीएनएन ने व्हाइट हाउस पर केस करते हुए लिखा अगर कोई रिपोर्टर इस तरह व्यवहार करता है तो व्हाइट हाउस व्यवस्थित और निष्पक्ष प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं कर सकता। ये एक पेशेवर के लिए सही नहीं है।

बता दें कि सात नवंबर को व्हाइट हाउस में हो रही एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान डोनाल्ड ट्रंप और एकोस्टा के बीच कुछ सवालों को लेकर बहस हो गई थी।

CNN ने दायर किया ‘ट्रम्प’ पर मुकदमा, रवीश बोले- भारत में ऐसा जो करेगा उसे विज्ञापन नहीं मिलेगा, नौकरी भी जा सकती है

इसके एक दिन बाद उनका पास रद्द कर दिया गया। पत्रकार जिम एकोस्टा अमरीकी राष्ट्रपति से मेक्सिको के शरणार्थियों और मेक्सिको से अमरीका की ओर बढ़ रहे प्रवासियों के एक काफ़िले के बारे में सवाल करना चाहते थे।

लेकिन इस सवाल के बीच में ही ट्रंप के दफ़्तर में तैनात एक महिलाकर्मी ने पत्रकार के हाथ से माइक झपटने की कोशिश की।