बीते साल भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। जिसके बाद से ही महाराष्ट्र सरकार और भाजपा के बीच बीते काफी समय से तनातनी चल रही है।

इसी बीच अब भाजपा के एक दिग्गज नेता एकनाथ खडसे ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है। भाजपा से इस्तीफा देकर एकनाथ खडसे एनसीपी में शामिल होने जा रहे हैं।

इसी कड़ी में एकनाथ खडसे ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ हमला बोला है।

एकनाथ खडसे का कहना है कि मैंने बीते 40 साल से पार्टी को जमीनी स्तर पर लोगों तक पहुंचाने का काम किया है। इस दौरान पार्टी में मुझे कई पद दिए गए।

पार्टी में उस वक़्त मेरी अनदेखी की जाने लगी। जब मैंने बहुजन समाज से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार को चुनने का मुद्दा उठाया। इस मामले के बाद मुझपर कई झूठे आरोप लगाने शुरू कर दिए। भाजपा ने अपने ही पार्टी नेता के खिलाफ सब घटिया स्तर की राजनीति की।

एकनाथ खडसे ने आरोप लगाया है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कहने पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई थी। देवेंद्र फडणवीस ने मुझ पर रेप जैसे गंभीर मामले दर्ज करवा मेरी बदनामी की।

एकनाथ खडसे ने कहा है कि जब मैं इन सभी आरोपों से मुक्त हो गया। तो मैंने पार्टी से इस्तीफा देने का फैसला लिया।

क्योंकि मैंने अपने 4 साल देवेंद्र फडणवीस की वजह से मानसिक तनाव में निकले हैं। उन्होंने मेरे राजनीतिक कैरियर को खराब करने की कोशिश की।

इस दौरान एकनाथ खडसे ने शिवसेना और अन्य विपक्षी दलों की तारीफ करते हुए कहा कि भले ही भाजपा ने मुझ पर कई मामले दर्ज करवाए। लेकिन विपक्षी दलों द्वारा कभी भी मेरे इस्तीफे की मांग नहीं की गई ना ही मेरे खिलाफ कोई जांच का मुद्दा उठाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × four =