फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को फिल्म इंडस्ट्री की विवादित क्वीन के तौर पर जाना जाता है। क्योंकि वह अक्सर अपने उल-जलूल बयानों की वजह से विवादों में बनी रहती हैं।

इसी बीच खबर सामने आई है कि फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत की मुश्किलें बढ़ने वाली है।

दरअसल सिख समुदाय के खिलाफ सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक बयान देने के मामले में कंगना रनौत पर एफआईआर दर्ज की जाएगी।

इस संदर्भ में मुंबई के खार पुलिस स्टेशन में कंगना रनौत के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की प्रक्रिया चल रही है।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने ही सिख समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के मामले में कंगना रनौत पर एफआईआर दर्ज किए जाने के आदेश जारी किए हैं।

सिख समुदाय के अमरजीत सिंह संधू की शिकायत पर कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

इससे पहले दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी ने पुलिस में दी गई शिकायत में कहा था कि कंगना रनौत ने किसान आंदोलन कर रहे किसानों को जानबूझकर खालिस्तानी पेश करने की कोशिश की। सिख समुदाय को खालिस्तानी आतंकी करार दिया गया।

अपने पोस्ट में उन्होंने साल 1984 और उससे पहले हुए नरसंहार को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तरफ से एक सुनियोजित कदम के रूप में दर्शाया।

आपको बता दें कि कंगना रनौत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हाल ही में कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के फैसले के बाद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिए कुछ पोस्ट किए थे।

जिसमें उन्होंने लिखा था कि खालिस्तानी आतंकवादियों ने भले ही आज सरकार की बांह मरोड़ दी। लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि एक महिला प्रधानमंत्री ने इन्हें कुचला था। चाहे इसकी वजह से देश को कितना ही कष्ट क्यों ना उठाना पड़ा हो।

कंगना रनौत के इस बयान से आक्रोशित सिख समुदाय ने उनका विरोध करने से साथ शिकायत भी दर्ज करवाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 3 =