ट्रेनों और हवाई अड्डों को बेचने के बाद अब मोदी सरकार देश की दूसरी सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) और विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) को बेचने की तैयारी कर रही है।

खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि, “सरकार चाहती है मार्च तक एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड की बिक्री की प्रक्रिया पूरी कर ली जाए। दोनों कंपनियों को लेकर हमारी जो योजना है हम उम्मीद कर रहे हैं कि अगले साल की शुरुआत तक उन्हें पूरा कर लेंगे।”

एयर इंडिया बेचो या BPCL, याद रखना कि ये सब उसी नेहरु ने बनाया है जिसे तुम ‘निकम्मा’ कहते हो : आचार्य

इसपर कुमार विश्वास ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए ट्विटर पर कहा, हनक सत्ता की सच सुनने की आदत बेच देती है, हया को,शर्म को आख़िर सियासत बेच देती है, निकम्मेपन की बेशर्मी अगर आँखों पे चढ़ जाए, तो फिर औलाद, “पुरखों की विरासत” बेच देती है !

वहीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड के बेचने के बारे में कहा कि, सरकार को इन दोनों कंपनियों को बेचने से इस वित्त वर्ष में एक लाख करोड़ का फायदा होगा।

पहले RBI से लाख करोड़ लिया अब भारत पेट्रोलियम बेच लाख करोड़ लेंगे, इसमें शोक क्या मनाया जाए

यही नहीं मोदी सरकार में सरकारी दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल भी बिकने के कगार पर है। बीएसएनएल कर्मचारियों को पैसे की कमी के कारण महीनों से वेतन नहीं मिला है। जबकि मोदी सरकार में 15 साल में मंदी सबसे ज्यादा है।

सरकार सरकारी घाटे को कम करने के लिए सरकारी कंपनियों को बेचने की योजना बना रही है। सरकारी विश्वविद्यालयों की फीस बढ़ाने में लगी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × one =