भारतीय जनता पार्टी द्वारा बिहार में संकल्प पत्र जारी करने के बाद राज्य में सियासी घमासान शुरू हो गया है। विपक्षी दल भाजपा के संकल्प पत्र में कोरोना की वैक्सीन के जिक्र पर आपत्ति जता रहे हैं।

हर छोटे-बड़े राजनीतिक दल ने भाजपा द्वारा कोरोना वैक्सीन के राजनीतिकरण की निंदा की है।

दरअसल वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बिहार चुनाव के लिए भाजपा का संकल्प पत्र जारी करते हुए कहा है कि जब भारत में कोरोना की सुरक्षित दवा बन जाएगी। तो बिहार में लोगों को फ्री में कोरोना का टीका लगाया जाएगा।

विपक्षी दलों का कहना है कि भाजपा के इस बड़े दावे के पीछे साफ़ झलक रहा है कि पार्टी चुनाव जीतने के लिए किस हद तक लोगों की भावनाओं के साथ खेल सकती है।

कांग्रेस, राजद और समाजवादी पार्टी के बाद अब आम आदमी पार्टी के अध्यक्ष और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है।

भाजपा को घेरते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पूरे देश को फ्री कोरोना वैक्सीन मिलेगी। इसपर सबका अधिकार है। ये सिर्फ एक पार्टी के लिए नहीं है। चुनाव प्रचार में इस तरह के वायदे नहीं किए जाने चाहिए।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इसके साथ ही ये भी कहा है कि कोरोना महामारी से पूरा देश नहीं बल्कि पूरी दुनिया ही परेशान हैं। भारत के सभी लोगों का कोरोना वैक्सीन पर अधिकार है।

जब कोरोना की वैक्सीन टेस्ट होने के बाद मार्किट में आ जाएगी। तो उसके बाद ही देखेंगे कि ये कितने की और कैसी है।

उन्होंने सवाल उठाया है कि क्या गैर भाजपा शासित राज्यों के लोगों को वैक्सीन नहीं मिलेगी ? या जिन्होंने भाजपा को वोट नहीं दिया, उन्हें क्या यह टीका मुफ्त में नहीं दिया जाएगा?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 15 =