टीआरपी स्कैम मामले में रिपब्लिक इंडिया के संस्थापक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ मुंबई पुलिस ने 11 जनवरी को सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की है।

जिसमें मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी और बार्क के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता के बीच हुई 500 पेजों के व्हाट्सएप चैट के स्क्रीनशॉट को आधार बनाया गया है।

इस व्हाट्सएप चैट में सामने आया है कि अर्नब गोस्वामी और पार्थो दासगुप्ता के बीच रिपब्लिक इंडिया टीआरपी रेटिंग बढ़ाने के लिए लाखों रुपए दिए हैं।

इसके साथ ही राष्ट्रभक्ति के नाम पर चीखने-चिल्लाने वाले अर्नब गोस्वामी इस चैट में फरवरी, 2019 में हुए आतंकी हमले में मारे गए जवानों पर टीआरपी रेटिंग हाई होने पर ख़ुशी मना रहे हैं।

पत्रकार गैरी वालिया ने अर्नब गोस्वामी की चैट का एक स्क्रीनशॉट अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। इसे ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा है कि 40 जवान शहीद हुए थे, ये है अर्णब का राष्ट्रवाद।

पत्रकार गैरी वालिया के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए पत्रकार साक्षी जोशी ने रिपब्लिक टीवी और भाजपा पर निशाना साधा है।

उन्होंने लिखा है कि “सुपारी संपादक, फ़र्ज़ी राष्ट्रवादी अर्नब गोस्वामी पुलवामा में शहीद जवानों की खबर में भी अपनी रेटिंग और जीत देख रहा था!

ये ग़द्दार और देशद्रोही है, इस बयान पर तो इसपर राष्ट्रद्रोह लगना चाहिए। जवानों की शहादत पर ये खुश हो रहा था। ज़रूर पाकिस्तान से पैसा मिला था इसे।”

अर्नब गोस्वामी पर अक्सर आरोप लगते रहे हैं कि वह डिबेट शो में हिन्दू-मुस्लिम के नाम पर नफरत फैलाने की कोशिश करते हैं। इसके साथ देश के जवानों के नाम पर राष्ट्रभक्ति और मुसलमानों को देशद्रोही बताया जाता है।

लेकिन इस व्हाट्सअप चैट से साफ़ जाहिर होता है कि फर्जी देशभक्ति के जरिये रिपब्लिक टीवी दर्शकों को बेवकूफ बनाता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 11 =