उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी ने हर बार की तरह इस बार सिर्फ हिंदू मुस्लिम के नाम पर चुनाव प्रचार करना शुरू कर दिया है।

हाल ही में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अयोध्या और काशी के बाद मथुरा की तैयारी करने जैसा बयान देकर नया विवाद खड़ा कर दिया था।

कल उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य प्रयागराज में व्यापारियों द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में पहुंचे थे।

जहां पर उन्होंने राज्य के मुसलमानों को लेकर आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए विवादित बयान दिया है। जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य इस वीडियो में ये कहते नजर आ रहे हैं कि साल 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले कितने लुंगी छाप गुंडे घूमते थे।

जालीदार टोपी पहने हाथ में बंदूक लिए व्यापारियों को डराने और धमकाने का काम किया करते थे और शिकायत भी नहीं करने देते थे।

आप की जमीन जायदाद पर कब्जा कौन करता था ? इतना करने के बाद यह लोग शिकायत भी नहीं करने देते थे।

ऐसे लोगों से भारतीय जनता पार्टी मैं आपको निजात दिलाई है। आने वाले चुनाव में ही सब कुछ याद रखना है।

इस मामले में पत्रकार रोहिणी सिंह ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि

भाजपा नेताओं को हर सुबह उठकर भारतीय मुसलमानों का शुक्रिया अदा करना चाहिए।

क्योंकि उनके बिना उनमें से किसी की भी राजनीति में कोई पहचान और उद्देश्य नहीं है। अगर भारत में मुसलमान नहीं होते तो बीजेपी नहीं होती!”

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में इस वक्त भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है।

राज्य के कथित विकास के नाम पर भाजपा को जनता का साथ नहीं मिल रहा। इसलिए भाजपा फिर हिन्दू-मुस्लिम की राजनीति पर उतर आई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + 12 =