बिहार में तीसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार शुरू हो चुका है। जिसके लिए देश के प्रधानमंत्री मोदी एक बार फिर बिहार के सहरसा में पहुंचे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सहरसा में जनसभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर देश के जवानों और भगवान राम के नाम पर वोट बटोरने का दांव चला है।

दरअसल राज्य में महागठबंधन को मजबूत होता देख पीएम मोदी ने राजद और कांग्रेस पर हमला बोला है।

अपनी जनसभा में पीएम मोदी ने राज्य में ‘जंगलराज’ का हवाला देते हुए कहा कि बिहार में ऐसे लोग एकजुट हो चुके हैं। जिन्हें ”भारत माता की जय” और ”जय श्रीराम” के नारे से दिक्कत है। यह लोग मिलकर लोगों से वोट मांग रहे हैं।

बिहार की जनता को इन्हें मुंहतोड़ जवाब देना होगा। बिहार के लोगों को ऐसे लोगों से सतर्क रहने की जरूरत है।

पीएम मोदी ने एक बार फिर आत्मनिर्भर भारत और भाजपा की सरकार की तमाम योजनाओं की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आत्मनिर्भर बिहार बनाने के लिए प्रतिबंध है। हम एक मजबूत नींव पर आधुनिक बिहार का निर्माण करेंगे।

इसके विपरीत महागठबंधन भाजपा और जदयू के गठबंधन की सरकार को बेरोजगारी गरीबी और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर घेर रहे हैं। दरअसल कोरोना महामारी के दौरान राज्य में लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हुए हैं।

वहीँ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह बयान दिया है कि उनके पास युवाओं को देने के लिए नौकरियां नहीं है। जबकि महागठबंधन के सीएम पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने उनकी सरकार बनने पर राज्य में 10 लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा किया है।

तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी के पकौड़ा बेचने के बयान पर जनता को सतर्क करते हुए कहा कि रोजगार देने और सरकारी नौकरी देने के वायदे में अंतर है। पीएम मोदी के रोजगार के दावे में पकौड़ा बेचना भी शामिल है।

पीएम मोदी के इस बयान पर ऑल्ट न्यूज़ की को-फाउंडर ने उन पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “वह ”भारत माता की जय” पर ले जाएंगे तुम रोजगार पर अड़े रहना।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine − 4 =