jamia vc
Jamia VC

16 दिसंबर को दिल्ली पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में घुसकर नागरिकता कानून का विरोध कर रहे छात्रों को बेरहमी से पीटा था। पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ छात्र तभी से प्रदर्शन कर रहे हैं और पुलिस के खिलाफ़ एफआईआर की मांग कर रहे हैं। छात्रों की इसी मांग के मद्देनज़र जामिया की वाइस चांसलर नजमा अख्तर सोमवार को छात्रों से मिलने पहुंची और उन्हें न्याय का आश्वासन दिया।

जब नजमा अख्तर छात्रों से मिलने पहुंची तो छात्रों ने पुलिस के खिलाफ़ कार्रवाई को लेकर उनसे कई सवाल पूछे। जिसके जवाब में नजमा ने कहा कि उनकी ओर से हिंसा के मुद्दे पर एफआईआर दर्ज करा दी गई है, लेकिन पुलिस उनकी FIR दर्ज नहीं कर रही है। साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया है कि हम दिल्ली पुलिस के खिलाफ कोर्ट तक जाएंगे।

इस दौरान छात्रों ने वीसी से पूछा कि पुलिस के खिलाफ एफआईआर कब होगी? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि ‘आप मुझसे तारीख मत पूछिए, मैंने आपसे कह दिया तो ये होकर रहेगा। हम कोशिश ही कर सकते हैं और कोशिश ही कर रहे हैं। आप लोग थोड़ा टाइम दीजिए। आप लोग परीक्षाओं को FIR से नहीं जोड़ सकते हैं। हम कोर्ट जाएंगे और कोर्ट की तारीखें हम तय नहीं कर सकते हैं. आप लोगों की ही मांग पर यूनिवर्सिटी को खोला गया।’

बता दें कि छात्र इस बात पर अड़ गए हैं कि जबतक पुलिस के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज नहीं की जाती, तबतक वो परीक्षा में नहीं बैठेंगे। छात्रों की ये मांग भी है कि परीक्षा की तारीख़ को नए सिरे से जारी किया जाए। जिसे वीसी ने स्वीकार कर लिया है।

इस दौरान छात्रों ने वीसी से पूछा कि जिन बच्चों को पुलिस ले गई थी, उनका क्या हुआ? इसपर उन्होंने कहा कि जिन बच्चों को पुलिस ले गई थी, हम उन्हें वापस ले आए हैं। साथ ही नजमा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस हमारे कैंपस में हमसे पूछे बगैर आई थी। उन्होंने हमारे मासूम बच्चों को पीटा था। हम न्याय की दिशा में हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here