बीते साल हरियाणा और दिल्ली के बॉर्डर पर शुरू हुए किसान आंदोलन की वजह से खट्टर सरकार पर सियासी खतरा मंडरा रहा था। दरअसल कई निर्दलीय विधायकों ने खट्टर सरकार से समर्थन वापस लेने के साथ-साथ जननायक जनता पार्टी पर भी समर्थन वापस लेने का दबाव बनाया था।

अब खबर सामने आई है कि हरियाणा के महम से निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू के खट्टर सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद उन पर आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई हुई है।

खबर के मुताबिक, निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू के आवास समेत 30 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की गई है।

आयकर विभाग की एक टीम ने आज सुबह रोहतक के सेक्टर 14 स्थित उनके आवास के साथ-साथ गुरुग्राम स्थित उनके आवास पर छापेमारी की।

आपको बता दें कि निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू इन दिनों किसान आंदोलन का बढ़-चढ़कर समर्थन कर रहे हैं। बीते कुछ वक्त से वह लगातार हो रही किसान महापंचायतों का हिस्सा भी बन रहे हैं।

उन्होंने बीते साल पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। लेकिन इस पर खट्टर सरकार द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई।

जिसके विरोध में निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने सरकार को दिया गया अपना समर्थन वापस ले लिया। बलराज कुंडू का कहना है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भ्रष्ट लोगों का समर्थन कर रहे हैं। इसलिए वह इस भ्रष्ट सरकार को अपना समर्थन देना जारी नहीं रख सकते।

बता दें, साल 2019 में भाजपा द्वारा टिकट नहीं दिए जाने के बाद उन्होंने निर्दलीय विधानसभा चुनाव लड़ा था।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ आवाज उठाने वाले लोगों पर अक्सर ऐसी कार्रवाई होना आम बात हो चुकी है। भले ही वह कोई पत्रकार हो आम आदमी या फिर विपक्षी नेता। इससे पहले भी ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven + 8 =