भाजपा शासित उत्तराखंड में बीते कुछ दिनों से कोरोना महामारी के चलते स्थिति काबू में है। राज्य में पहले के मुकाबले कोरोना मामलों में कमी देखने को मिल रही है।

इसी बीच उत्तराखंड के रुड़की से भारतीय जनता पार्टी के विधायक प्रदीप बत्रा का मास्क ना पहनने पर चालान काटे जाने का मामला सामने आया था।

भाजपा विधायक प्रदीप बत्रा कोरोना महामारी के दौरान मास्क ना पहन मसूरी के मॉल रोड पर अपने परिवार के साथ घूम रहे थे। जोकि कोरोना नियमों का उल्लंघन है।

जिसके चलते भाजपा विधायक का एक पुलिस कर्मी द्वारा 500 रुपए का चालान काट दिया गया। जिसकी एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुई थी।

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि मसूरी में जब भाजपा विधायक बिना मास्क लगाए घूम रहे थे। तो पुलिसकर्मी नीरज कठैत ने उन्हें टोका था। लेकिन भाजपा विधायक नेता पुलिसकर्मी से उलझ पड़े। इस दौरान दोनों के बीच नोकझोंक भी हो गई।

अब खबर सामने आई है कि भाजपा विधायक प्रदीप बत्रा का चालान काटने वाले पुलिसकर्मी नीरज कठैत का ट्रांसफर कर दिया गया है।

माना जा रहा है कि भाजपा विधायक का चालान काटे जाने की वजह से ही नीरज कठैत का ट्रांसफर किया गया है।

इस मामले में आज एसडीएम कार्यालय के बाहर कांग्रेस द्वारा राज्य सरकार और भारतीय जनता पार्टी के विधायक प्रदीप बत्रा के खिलाफ प्रदर्शन किया गया है।

इस प्रदर्शन में कांग्रेस नेताओं द्वारा भाजपा सरकार और पार्टी विधायक प्रदीप बत्रा के खिलाफ नारेबाजी की गई।

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि उत्तराखंड सरकार ने एक पुलिसकर्मी को ईमानदारी के साथ ड्यूटी करने की सजा दी है। जिसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

अगर इस तरह से ईमानदार पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी। तो उनका मनोबल टूटेगा। ऐसे में सरकार पुलिस कर्मियों को ईमानदारी से न काम करने का सन्देश दे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + 11 =