बहुत जल्द ही वो समय आएगा जब चुनाव आयोग जैसी संस्था का नामोनिशान मिट जाएगा। जिस तरह से चुनाव आयोग की कार्यशैली पिछले कुछ चुनावों से नज़र आ रही है, वो यह बताने के लिए पर्याप्त है कि अब यह केंद्र सरकार की कठपुतली बन चुका है।

एक एक कर देश की तमाम संवैधानिक संस्थाओं का खात्मा हो रहा है और अब इस फेहरिस्त में केंद्रीय चुनाव आयोग भी आ गया है।

10 मार्च को देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की मतगणना होनी है और आज 8 मार्च की शाम पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ईवीएम से भरे एक ट्रक को जिस तरह से बरामद किया गया है उसने निष्पक्ष चुनाव के दावों की हवा निकाल कर रख दी है।

प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी समाजवादी पार्टी समेत देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने भी अब चुनाव आयोग की कार्यशैली को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी, अल्पसंख्यक विभाग के सदर और नामचीन शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने ईवीएम पकड़े जाने के बाद मोर्चा खोल दिया है।

इमरान ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए चुनाव आयोग और भाजपा पर हमला बोल दिया है।

इमरान ने ट्वीट किया है कि बनारस में ईवीएम से लदी गाड़ी पकड़ी गई है, विपक्ष के कार्यकर्ता हंगामा कर रहे हैं,

प्रशासन के उच्च अधिकारी चुप्पी साधे हैं, चुनाव आयोग कहीं नींद में सो रहा है, टीवी पर दिखाये गये पोल को सच साबित करने में जुटी है भाजपा।

इमरान ने कहा कि कल एक्ज़िट पोल की बकैती और उसके बाद आज आज ईवीएम की डकैती।

वहीं ईवीएम पकड़े जाने का वीडियो ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह की ख़बरें कई ज़िलों से आ रही है, ऐसी ही लूट मची रही तो भविष्य में चुनाव आयोग का क्या काम ?

आपको बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत पिछले कुछ दिनों से लगातार इस बात को लेकर यूपी के विपक्षी दलों को चेतावनी दे रहे थे कि भाजपा यूपी चुनाव जीतने के किसी भी हद तक जा सकती है।

उन्होंने विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं समेत किसानों से मतगणना केंद्रों पर एक दिन पहले ही पहुंच कर पहरा देने का आह्वान कर दिया था।

टिकैत का अंदेशा अंततः सही साबित हुआ और ईवीएम से भरे हुए ट्रक को पकड़ लिया गया।

इसके साथ ही यह भी सोचने समझने वाली बात है कि यहां पर तो ईवीएम बरामद कर लिया गया, बाकी जगहों पर क्या हो रहा होगा या क्या हो गया होगा..

ये कौन जानता है पर इतना तय है कि भारत अब विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र नहीं बचा है। यहां अब वोटों की चोरी होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 16 =