राष्ट्रवाद की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले रिपब्लिक इंडिया के संस्थापक अर्नब गोस्वामी का जमकर विरोध किया जा रहा है। माना जा रहा है कि एक बार फिर अर्नब गोस्वामी को जेल जाना पड़ सकता है।

दरअसल मुंबई पुलिस द्वारा सार्वजानिक की गई अर्नब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट्स में कई बड़े खुलासे हुए हैं।

अर्नब गोस्वामी की चैट में बालाकोट और पुलवामा में हुए हमले का भी जिक्र किया गया है। जिसके बाद अर्नब गोस्वामी एक बार फिर से महाराष्ट्र सरकार के निशाने पर आ गए हैं। इस मामले में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने मोदी सरकार पर भी सवाल उठाए हैं।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि अर्णब गोस्वामी को 2 साल पहले बालाकोट में किए गए हमले की जानकारी पहले से ही कैसे थी? यह बहुत ही सेंसिटिव और गोपनीय जानकारी है। लेकिन रिपब्लिक टीवी को इसकी जानकारी पहले से ही होना एक बड़ा सवाल है।

बताया जा रहा है कि मंगलवार को कैबिनेट की मीटिंग हुई है। जिसमें इस बात पर चर्चा की गई है। अनिल देशमुख ने यह साफ कर दिया है कि वह इस मामले में पूरी जांच करवाएंगे और पता लगाएंगे कि अर्नब गोस्वामी को इस हमले के बारे में पहले से ही कैसे पता था।

आपको बता दें कि शिवसेना के साथ-साथ कांग्रेस ने भी इस मामले में भारतीय जनता पार्टी को घेरा है। कांग्रेस का कहना है कि अर्नब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट से देश की राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर गंभीर सवाल खड़े हुए हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी ऐसी गोपनीय जानकारी सरकार के समर्थक न्यूज़ चैनल और पत्रकार को कैसे मिली इसकी जांच होनी चाहिए।

आपको बता दें कि टीआरपी स्कैम मामले में मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी और बार्क के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता से चैट में भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में होने वाली एयर स्ट्राइक से 3 दिन पहले यह कहा था कि कुछ बड़ा होने वाला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + 16 =