भारत में मोदी सरकार की गलत नीतियों और फैसलों के कारण गरीबी और बेरोज़गारी फ़ैल रही है। दूसरी तरफ हिंदूवादी संगठनों द्वारा देश में नफरत और साम्प्रदायिकता फैला कर लोगों को बांटने की कोशिश की जा रही है।

खबर सामने आई है कि भाजपा शासित मध्यप्रदेश में हिन्दू महासभा द्वारा एक स्टडी सेंटर खोला गया है। इस स्टडी सेंटर को ग्वालियर में खोला गया है। जिसे ‘गोडसे ज्ञानशाला’ का नाम दिया गया है।

इस ज्ञानशाला के उद्घाटन के मौके पर नाथूराम गोडसे सहित वीर सावरकर, रानी लक्ष्मीबाई और संघ से जुड़े अन्य पदाधिकारियों की तस्वीर की पूजा-अर्चना की।

इस मौके पर हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने कहा है कि उनसे ज्ञानशाला में सभी राष्ट्र भक्तों का समावेश हो, उनकी ज्ञान की बातें बताएं जाए, हमारी यही इच्छा है। युवा पीढ़ी को नाथूराम गोडसे और उनकी देशभक्ति के बारे में बताना बहुत जरूरी है।

गौरतलब है कि ग्वालियर में हिंदू महासभा हर साल नाथूराम गोडसे का जन्म दिवस मनाती है। इस मौके पर महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का खूब महिमामंडन किया जाता है।

हिन्दू महासभा का कहना है कि वह गोडसे ज्ञानशाला में देश के बंटवारे के इतिहास से लेकर गोडसे के जीवन के बारे में लोगों को जानकारी देंगे।

आपको बता दें कि नाथूराम गोडसे ने 30 जनवरी 1948 को दिल्ली में महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या की थी। देश के हिंदूवादी हिन्दू महासभा, आरएसएस और बजरंग दल नाथूराम गोडसे को राष्ट्रभक्त मानते है।

इस मामले में मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है। कांग्रेस नेताओं ने ग्वालियर में गोडसे ज्ञानशाला खोले जाने और महात्मा गाँधी के हत्यारे की पूजा किए जाने में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × four =