बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे ‘नाथूराम गोडसे’ को संसद में देशभक्त बताए जाने का मामला अभी चल ही रहा है कि, बीजेपी के एक और नेता ने गोडसे को देशभक्त बताया है।

असम से बीजेपी विधायक शिलादित्य देव ने बीजेपी सांसद का बचाव करते हुए कहा, मैं प्रज्ञा ठाकुर को सलाम करता हूं, क्योंकि उन्होंने सच बोला है।

विधायक ने कहा, धर्म के अधार पर देश को दो टुकड़ों में बांटने वाले महात्मा गांधी ने खुद ही देश का बंटवार किया था। हमने देखा कि देश का बंटवारा हुआ और दो देशों का गठन किया गया पश्चिम पाकिस्तान और पूर्वी पाकिस्तान। बंटवारे के बाद भी पाकिस्तान में हिंदुओं के खिलाफ कई तरह के आंदोलन चलाए गए जिसे महात्मा गांधी भी नहीं रोक पाए।

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं यह नहीं कह रहा हूं कि महात्मा गांधी एक विवादित राजनेता थे लेकिन उन्होंने हिंदुओं के साथ जो किया, वो बिल्कुल सही नहीं था।

अबभी प्रज्ञा को BJP से नहीं निकाला जाता तो कोई हक नहीं है PM मोदी को ‘गांधी’ का नाम लेने का

बीजेपी विधायक के इस बयान पर पत्रकार अजीत अंजुम ने ट्विटर पर लिखा- अब असम से भाजपा विधायक शिलादित्य देव ने कहा है “मैं प्रज्ञा ठाकुर को सलाम ठोंकता हूं क्योंकि उन्होंने सच बोला है.” प्रज्ञा का तो कुछ बिगड़ा नहीं अब इनका क्या करेगी बीजेपी ?

वहीँ इससे पहले बलिया के बैरिया से बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने गुरुवार को कहा था कि, “नाथूराम गोडसे से महात्मा गांधी की हत्या करने की ‘भूल’ अवश्य हुई है लेकिन वह आतंकवादी नहीं थे।

कई एंकर प्रज्ञा ठाकुर से ज़्यादा ज़हरीले हैं, वो महात्मा गांधी पर बने शो को होस्ट नहीं करतेः विनोद कापड़ी

बता दें कि बुधवार को द्रमुक नेता ए राजा सदन में गोडसे का एक बयान पढ़ा रहे थे, जिसमें उन्होंने बताया था कि गोडसे ने महात्मा गांधी को क्यों मारा था। इस पर प्रज्ञा ठाकुर ने उन्हें टोकते हुए कहा कि आप एक ‘देशभक्त’ का उदाहरण नहीं दे सकते।

प्रज्ञा सिंह ठाकुर और सुरेंद्र सिंह के बयान उन अटकलों को और हवा देते हैं कि, बीजेपी के नेता भले ही महात्मा गांधी की सार्वजनिक तौर से तारीफ करते हैं लेकिन मन में गोडसे के लिए प्रेम भरा पड़ा है।