मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ किसानों का आंदोलन जारी है। किसान अपनी मांगों लेकर तकरीबन दो महीने से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर डटे हुए हैं।

किसानों से कई दौर की बाचतीत के बाद भी सरकार आंदोलन को ख़त्म कराने में नाकाम रही है। ऐसे में सरकार के समर्थक आंदोलन ख़त्म कराने के लिए अब किसानों को धमकी देते नज़र आ रहे हैं।

सत्तारूढ़ बीजेपी के करीबी कहे जाने वाले बॉलीवुड एक्टर गजेंद्र चौहान ने किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे प्रमुख चेहरों में से एक भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के प्रवक्ता राकेश टिकैत को धमकी दै ही।

उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत जब आंदोलन के बाद अपने घर बागपत वापस लौटेंगे तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनको नहीं छोड़ेंगे।

दरअसल, टिकैत ने ऐलान किया है कि जब तक नए कृषि कानून वापस नहीं होंगे तब तक वह अपने गृह जिले मुजफ्फरनगर की सीमा में दाखिल नहीं होंगे। बता दें कि राकेश टिकैत मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव के रहने वाले हैं।

गजेंद्र चौहान ने राकेश टिकैत को खुलेआम धमकी देते हुए ट्वीट कर कहा, “राकेश टिकैत भूल गया है आंदोलन खत्म कर के उसे कभी न कभी वापस अपने घर UP के बागपत में आना है फिर बाबाजी कायदे से धनिया बोयेंगे”।

गजेंद्र के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर सूबे की योगी सरकार यूज़र्स के निशाने पर आ गई है।

अजय कुमार नाम के यूजर ने लिखा, “गजेंद्र चौहान जी क्या आप यह कहना चाहते हैं कि योगी सरकार गुंडागर्दी करती है या फिर हमारे देश में आंदोलन करना गुनाह है। आपकी सोच बहुत ही घटिया है”।

वहीं आनंद श्रीवास्तव नाम के यूज़र ने लिखा, “गजेन्द्र जी, जब राकेश टिकैत को धमकी दे रहे हैं खुलेआम तो फिर सोचिए ये सरकार गरीब किसानों के साथ क्या सलूक करेगी।

जो सरकार आंदोलन करने पर खुलेआम ऐसे धमकी दे रही है वो क्या वास्तव में किसानों के हित में सोचेगी। स्पष्ट है कि सरकार को किसानों से नहीं सिर्फ कुर्सी से मतलब है”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − eleven =