देश ने आज एक और भारत रत्न खो दिया। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया है। इस बारे में एम्स ने हेल्थ बुलेटिन जारी कर इस बारे में जानकारी दी।

वाजपेयी को 11 जून को अस्पताल में भर्ती कराया था। पिछले 24 घंटे में उनकी हालत बेहद खराब हो गई थी। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था।

इस पर पीएम मोदी ने सोशल मीडिया पर सन्देश देते हुए लिखा- मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत है।

पीएम मोदी ने आगे लिखा- अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति !

बता दें कि अटल बीजेपी संस्थापक सदस्यों में शामिल वाजपेयी पहली बार साल 1996 में देश के पीएम बने। दूसरी बार साल 1998 में पीएम बने और चुनाव में जीत के बाद तीसरी बार साल 1999 में पीएम बने और साल 2004 तक रहे। साल 2015 में मोदी सरकार ने उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाज़ा था।