फ्रांस के घटनाक्रम पर अपनी राय रखने वाले मशहूर शायर मुनव्वर राना के के खिलाफ लखनऊ के हज़रतगंज थाने में FIR दर्ज की गई है।

FIR में राना के उस बयान को वैमनस्यता बढ़ाने वाला बताया गया है, जिसमें उन्होंने कार्टून विवाद को लेकर फ्रांस में हुई हत्या को प्रतिक्रिया बताया था।

केस दर्ज होने के बाद भी मुनव्वर राना अपने बयान से पीछे नहीं हटे हैं। उन्होंने साफ़ कर दिया है कि वह अपने बयान के लिए किसी से माफी नहीं मांगेंगे, चाहे इसके लिए उन्हें फांसी ही क्यों न हो जाए।

उनका कहना है कि उन्होंने कुछ भी ग़लत नहीं कहा, अगर उनके बयान को ग़लत साबित कर दिया गया जो सज़ा कबूल करने के लिए तैयार हैं।

मुनव्वर राना ने अपने बयान को सही बताते हुए कहा कि उनके पास जो कलम है वह सच लिखने के लिए है। पाजामे में नाड़ा डालने के लिए नहीं। उन्होंने कहा कि वो जेल जाना पसंद करेंगे और जेल में ही मरना भी, लेकिन अपने बयान से पीछे नहीं हटेंगे।

उन्होंने कहा कि मैं उन लोगों की तरह नहीं जो मुकदमे वापस करवाते फिरते हैं और सच बोलने से डरते हैं। अगर मेरी बात पर कोई गुनाह साबित हुआ तो चौराहे पर कर शूट कर दो।

अपने खिलाफ़ FIR दर्ज किए जाने पर राना ने कहा कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें अभी किसी ने दिखाया कोई दीपक पांडे नाम का दरोगा है, जिसने उनके खिलाफ ये एफआईआर दर्ज करवाई है।

राना ने कहा कि जिस दरोगा ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है वो ज़रूर हाईस्कूल नकल करके पास हुआ होगा।

बता दें कि मुनव्वर राना ने हाल ही में अपने एक इंटरव्यू के दौरान फ्रांस में हुए कार्टून विवाद पर अपनी राय रखी थी।

उन्होंने कहा था कि पैगंबर मोहम्मद साहब का कार्टून बनाकर उस युवा को इतना मजबूर किया गया कि वह किसी का कत्ल कर बैठा। अगर उस छात्र की जगह मैं रहा होता तो मैं भी कत्ल कर बैठता। बात पैगंबर साहब की ही नहीं है कोई अगर भगवान राम का विवादित कार्टून बनाता तो भी मैं यही करता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × one =