दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के बीच कल पंजाब में कई जगह किसानों द्वारा ट्रैक्टर मार्च निकाला गया। इस दौरान पंजाब और दिल्ली की सीमाओं पर बैठे किसानों के समर्थन में लोगों ने बड़ी तादाद में एकजुट होकर ट्रैक्टर मार्च निकाला।

सोशल मीडिया पर किसानों द्वारा निकाले गए ट्रेक्टर मार्च की तस्वीरें और वीडियो खूब वायरल हो रही है।

जिसमें देखा जा सकता है कि सड़कों पर हजारों की तादाद में ट्रैक्टर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस मामले में पंजाब के कई नेताओं ने भी इस ट्रेक्टर मार्च का समर्थन किया है।

पंजाब में हुए इस ट्रैक्टर मार्च में किसान प्रदर्शनकारियों ने यह संदेश दिया है कि अभी यह ट्रैक्टर मार्च सिर्फ और पंजाब में निकाला जा रहा है। लेकिन हमारे लिए सिंघु बॉर्डर दूर नहीं है।

अगर सरकार ने जल्द ही इन काले कानूनों को रद्द नहीं किया तो यह ट्रैक्टर मार्च दिल्ली में किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अडानी अंबानी का साथ छोड़ना चाहिए।

वहीँ दिल्ली में हुए ट्रैक्टर मार्च में किसानों ने कहा है कि अगर आठवें दौर की बातचीत में सरकार इन कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए तैयार नहीं होती तो 26 जनवरी के मौके पर भी इसी तरह का ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा।

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि हम सरकार को चेतावनी देने के लिए यह रैली निकाल रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि मई, 2024 तक आंदोलन के लिए तैयार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 2 =