बीते साल दुनिया भर में फैले कोरोना संक्रमण को इस वक्त की सबसे बड़ी आपदा माना जा सकता है। बात की जाए भारत की तो इस मुश्किल घड़ी में जहां सरकार आपदा में अवसर तलाशने का काम कर रही है।

वहीं कई गैर सरकारी संस्थाएं और नेताओं के साथ-साथ आम लोग जरूरतमंदों की मदद के लिए सामने आ रहे हैं।

दरअसल भारत में इस वक्त सबसे भारी कमी ऑक्सीजन की चल रही है। कई जगहों पर ऑक्सीजन और वैक्सीन की कालाबाजारी किए जाने के मामले भी सामने आए हैं।

ऐसे में आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के तिमारपुर से विधायक दिलीप पांडे बीते दिनों कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

बता दें, कोरोना संक्रिमत पाए जाने के बावजूद भी आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे इस महामारी में जरूरतमंद लोगों को राशन, दवा, प्लाज्मा, जैसी चीजें मुहैया करवाने में आगे रहे हैं।

बताया जाता है कि कोरोना महामारी में पीड़ितों की मदद करने के मामले में आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे पर सरकार द्वारा कार्रवाई की जा रही है। दरअसल दिलीप पांडे की क्राइम ब्रांच द्वारा पूछताछ की गई है।

इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके दी है। दिलीप पांडे ने मोदी सरकार को घेरते हुए लिखा है कि “किसी की मदद करना भी मोदी राज में गुनाह हो गया है. मेरा पूरा परिवार कोविड की त्रासदी से परेशान है, लेकिन मेरे पास क्राइम ब्रांच की पूछ ताछ आई “लोगों की मदद कैसे कर दी?

जवाब दो?”एक नही एक हज़ार बार पीड़ितों की मदद करूँगा, भले ही इस गुनाह के लिये मोदी-अमित शाह मुझे फाँसी चढ़ा दें।

आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी इस मामले में मोदी सरकार पर हमला बोला है।

उन्होंने दिलीप पांडे के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा है कि “क्या मानसिक रूप से दिवालिया हो गये हैं भाजपाई? खुद तो नाकारों की तरह घर में छिपे हैं dilip pandey लोगों की सेवा करें तो Amit Shah उन्हें जेल भेजेंगे।

इतनी शर्म कर लेते कि dilip pandey उनकी पत्नी,बच्चे सब कोविड के शिकार हुए उन्हें तो ना परेशान करें लेकिन तुम लोग निर्दयी हो।”

गौरतलब है कि देश की राजधानी दिल्ली में बीते कुछ समय से होने के कारण हालात काफी गंभीर बने हुए हैं।

राजधानी के ज्यादातर अस्पतालों में बेड्सऔर ऑक्सीजन की किल्लत चल रही है। ऐसे में लोगों की मदद के लिए आगे आने वाले नेताओं पर सरकार द्वारा कार्रवाई की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × four =