गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों द्वारा निकाली जाने वाली ट्रैक्टर परेड के दौरान पुलिस और किसानों के बीच कई जगह झड़प होने के मामले सामने आए हैं।

दिल्ली के लाल किले में कल जो भी घटना घटी है। उस पर अब जमकर राजनीति की जा रही है। दरअसल लाल किले पर सिखों के निशान साहिब का झंडा फहराने का आरोप पंजाबी कलाकार दीप सिद्धू पर लग रहा है।

बताया जाता है कि ट्रैक्टर परेड से 1 दिन पहले उन्होंने किसानों को उकसाने के लिए भड़काऊ भाषण भी दिया था। इस मामले में अब भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत का बड़ा बयान सामने आया है।

उन्होंने कहा है कि दीप सिद्धू जो है। किसान आंदोलन का हिस्सा नहीं है। वह सिख नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता है। सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा नेता सनी देओल के साथ उनकी तस्वीरें भी मौजूद हैं।

राकेश टिकैत कहा है कि दिल्ली में जो हिंसा हुई है। वह मोदी सरकार द्वारा करवाई गई है। लाल किले पर झंडा फहराने वाले लोग भाजपा से ही जुड़े हुए हैं।

राकेश टिकैत का कहना है कि जिन लोगों ने भी बैरिकेडिंग तोड़कर दिल्ली में जबरदस्त एंट्री की।

वह अलग किसान संगठनों के लोग थे। दिल्ली पुलिस और प्रशासन उनके साथ मिला हुआ था। उन्हें लाल किले तक पहुंचने के लिए रास्ता दिया गया।

कल दिल्ली में जो भी हुआ है वह भाजपा की साजिश थी। जिसने भी लाल किले पर झंडा फहराया है। उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। वह खुद ही बताएगा कि उनके गैंग में कौन-कौन लोग शामिल थे।

इसके साथ उन्होंने कहा है कि कल के ट्रैक्टर परेड में ऐसे किसान संगठन में शामिल हुए जो उनकी विचारधारा के नहीं थे। उन लोगों का समर्थन नहीं करते जिन्होंने कल हिंसा की है। हमारी विचारधारा से जुड़े किसान शांतिपूर्वक प्रदर्शन करना चाहते थे। जो हमने कई बार कहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × four =