congress
Congress

देश महंगाई और बेरोजगारी की मार झेल रहा है, अर्थव्यवस्था की हालत भी अब किसी से छिपी नहीं है। रोजगार का न होना एक बड़ी समस्या के रूप में देश के सामने आ रहा है। ऐसे में जनता के लिए एक बुरी खबर है।

सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों ने एक सूचना में इसकी जानकारी दी की रसोई गैस की कीमतों में बुधवार को 144.5 रुपये प्रति सिलिंडर की भारी-भरकम वृद्धि कर दी गयी है। हालांकि सरकार ने रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी बढ़ाकर लगभग दोगुनी कर दी है। इससे सब्सिडी वाले सिलिंडर के उपभोक्ताओं पर अधिक बोझ नहीं पड़ेगा।

कंपनियों ने कहा कि एलपीजी सिलिंडर की कीमत पहले के 714 रुपये से बढ़ाकर 858.50 रुपये कर दी गयी है। यह जनवरी 2014 के बाद से रसोई गैस के भाव में हुई सबसे बड़ी वृद्धि है। तब एलपीजी का भाव 220 रुपये प्रति सिलिंडर बढ़ाकर 1,241 रुपये कर दिया गया था।

चुनाव खत्म होते ही 150 रुपये महंगी हुई रसोई गैस, क्या BJP ने जनता से ‘हार’ का बदला लिया है?

रसोई गैस की कीमतों में इजाफा होने पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने लिखा- बीजेपी ने नक़ाब हटाया, —सीधे 150 रुपये तक बढ़ाये गैस सिलेंडर के दाम : दिल्ली चुनाव बीतते ही मोदी सरकार ने घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में सीधे 150 रूपये की बढ़ोतरी की है। मोदी जी, जनता से इस तरह बदला मत लो, वर्ना जनता अर्श से फ़र्श पर लाना भी जानती है।

वहीं पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने लिखा- मोदी जी ने रसोई गैस की क़ीमत बढ़ाई ₹144! 2019 से 2020 यानी 1 साल में रसोई गैस की क़ीमत बढ़ा दी, करेंट की बात करते करते जनता की जेब पर ही करेंट मार दिया!

सरकार ने इसके साथ ही एलपीजी सिलिंडर पर मिलने वाली सब्सिडी 153.86 रुपये से बढ़ाकर 291.48 रुपये प्रति सिलिंडर कर दी है। सब्सिडी पर उपभोक्ताओं को एक साल में 12 सिलिंडर मिलते हैं। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सिलिंडर पाने वालों के लिये सब्सिडी 174.86 रुपये से बढ़ाकर 312.48 रुपये प्रति सिलिंडर कर दी गयी है।

सब्सिडी के बाद एक सिलिंडर एलपीजी का भाव सामान्य उपभोक्ताओं को 567.02 रुपये तथा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सिलिंडर पाने वालों को 546.02 रुपये का पड़ेगा। आम जनता के ऊपर इस बढे हुए मूल्य का अतिरिक्त भार आयेगा। सिलिंडर के बढे हुए दाम को लेकर सरकार से गुहार लगाई जा रही है।

ऐसा भी कयास लगाया जा रहा है की इन बढे हुए दामों का ऐलान दिल्ली चुनाव के परिणाम आने तक रोक कर रखा गया था। दिल्ली में कल ही चुनाव के नतीजे आए हैं जिसमें आम आदमी पार्टी से भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here