Samar Raj

भाजपा शासित गुजरात के कच्छ में मुंद्रा पोर्ट पर डीआरआई और कस्टम विभाग द्वारा 21000 करोड़ रुपए की हेरोइन पकड़ी गई है।

खबर के मुताबिक, यह हेरोइन 2 कंटेनरों से जब्त हुई है। जिसे अफगानिस्तान से निर्यात किया गया था।

खबर के मुताबिक, डीआरआई के सूत्रों ने बताया है कि यह हेरोइन आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा स्थित एक कंपनी द्वारा इंपोर्ट की गई थी। जिसे कंपनी द्वारा टेलकम पाउडर बताया गया था।

दूसरी तरफ से हेरोइन का निर्यात करने वाली फर्म की पहचान अफगानिस्तान के कंधार स्थित हसन हुसैन लिमिटेड के रूप में हुई है।

इस सारे मामले में मोदी सरकार के करीबी पूंजीपति गौतम अडानी का नाम चर्चा में बना हुआ है। दरअसल कच्छ के मुंद्रा पोर्ट का मालिकाना हक गौतम अडानी के पास है।

मोदी सरकार के करीबी उद्योगपति गौतम अडानी के मुंद्रा पोर्ट पर मिली ड्रग्स की बड़ी खेप को लेकर विपक्षी दलों ने सरकार और गौतम अडानी के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है।

इस मामले में कांग्रेस के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने सरकार और देश के मीडिया पर सवाल खड़े किए हैं।

उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा है कि गुजरात के प्राइवेट मुंद्रा पोर्ट पर विश्व की सबसे ज़्यादा हेरोइन पकड़ी गई। ये 21000 करोड़ की है।

जो मीडिया फ़िल्म इंडस्ट्री में 2 ग्राम ड्रग पर इतना हल्ला करता है वो चुप क्यों है? गुजरात से आने वाले पीएम होम मिनिस्टर सब चुप हैं क्यों?

गौरतलब है कि गुजरात में इतनी बड़ी तादाद में ड्रग्स पकड़े जाना सरकार और प्रशासन पर सवाल खड़े करती है। ऐसे में भाजपा मंत्रियों और नेताओं का इस मामले में चुप्पी साधे रखी हुई है।

इसके अलावा मेनस्ट्रीम मीडिया में भी इस खबर पर कुछ ख़ास चर्चा नहीं की जा रही है। जबकि फिल्म इंडस्ट्री में कलाकारों के पास ड्रग्स मिलने पर मीडिया द्वारा कई कई दिनों तक इस मुद्दे पर डिबेट शो किए जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + six =