देश में कोरोना महामारी के बाद अब कई राज्यों में डेंगू और वायरल फीवर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इस कड़ी में भाजपा शासित उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश का नाम सबसे ऊपर चल रहा है।

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में डेंगू और वायरल फीवर का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है।

उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल फीवर के बढ़ रहे प्रकोप पर कांग्रेस नेता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है।

इंडिया टुडे एक टीवी शो के दौरान कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने कहा कि क्या योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री धर्म का पालन कर रहे हैं? क्या हाथरस पीड़िता ने अगर उन्हें पिताजी और अब्बाजान कहकर बुलाया होता तो उसे बचाने के लिए जाते?

कोरोना महामारी में ऑक्सीजन की कमी होने की वजह से कई बच्चों की जान गई। क्या वह इन्हें अगर पिताजी बोलते तो उनकी जान बच जाती?

उन्होंने कहा, बीते कुछ दिनों से फिरोजाबाद में कितने बच्चे मर रहे हैं। वह बच्चे इन्हें क्या बुलाएं?

क्या पिताजी बोले या अब्बाजान बोले या डैडी बोले? उन्हें क्या बोला जाए कि आप उनकी जान बचा ले।

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दी गई हेट स्पीच सबने सुनी है। इसपर डिबेट की जानी चाहिए कि एक मुख्यमंत्री होने के नाते उन्होंने हजारों बच्चों और रेप का शिकार होने वाली बच्चियों को बचाने के लिए क्या किया है? उन्नाव और हाथरस पीड़िता के लिए उन्होंने क्या किया ?

आपको बता दें कि बीते दिनों यूपी के कुशीनगर में संबोधित एक जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा ‘अब्बाजान’ वाले बयान पर भाजपा और विपक्षी दलों के बीच सियासी जंग चल रही है।

कांग्रेस और समाजवादी पार्टी समेत कई विपक्षी दलों के नेताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस बयान की कड़ी आलोचना की है।

विपक्षी नेताओं का कहना है कि राज्य में डेंगू और वायरल फीवर की वजह से बच्चों की जान जा रही है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनसभाओं में शर्मनाक बयानबाजी कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − nine =