राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के गांव नांगल में एक नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म होता है. उसके बाद उसकी हत्या हो जाती है. मामला यही समाप्त नहीं होता, बिना उसके परिवार के लोगों की सहमति लिए उसका जबरन अंतिम संस्कार कर दिया जाता है.

घटना की खबर सामने आते ही पूरे देश में एक तरह से उबाल आ जाता है. लोग आक्रोशित हो उठते हैं लेकिन भाजपा की महिला सांसदों और मंत्रियों की कोई प्रतिक्रिया इस मामले में सामने नहीं आती. ये सभी महिला मंत्री और सांसद खामोश हैं.

कहते हैं कि एक महिला ही दूसरे महिला का दर्द समझ सकती हैं लेकिन सत्ता के शीर्ष पर पहुंच चुकी इन महिलाओं को शायद सत्ता, सरकार और पार्टी से आगे कुछ समझ नहीं आ रहा या फिर ये समझना ही नहीं चाहती.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी हो या फिर भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद या फिर दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी… ये सभी पुरुष नेता इस मामले में मुखर नजर आ रहे हैं, लेकिन विडंबना है कि भाजपा की महिला शक्ति मौन क्यों हैं इस मसले पर.

जो महिलाएं सरकार में शामिल हैं या सरकार का हिस्सा हैं, उनके दबाव बनाने से सरकार तुरंत हरकत में आ सकती है.

सारी शक्तियां सरकार के पास हैं. उनके दबाव बनाने से पीड़ित परिवार को शीघ्र न्याय मिल सकता है लेकिन वह सब खामोश हैं.

यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने मोदी सरकार की महिला मंत्रियों की तस्वीरें साझा करते हुए ट्वीटर पर लिखा है कि

‘दिल्ली में 09 साल की नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार हुआ. उसकी हत्या कर दी गई और फिर जबरन उसके शव का दाह संस्कार कर दिया गया. इस घटना पर मोदी मंत्रिमंडल की महिला शक्ति ने कुछ भी बोला क्या ?

श्रीनिवास के ट्वीट पर मिनी नागरे नामक एक यूजर लिखती हैं कि ये वह महिलाएं हैं जो मनमोहन सिंह सरकार के दौरान चूड़ियां भेजा करती थीं और आज ये सभी मुंह पर ताला जड़ कर बैठ गई हैं.

मालूम हो कि केंद्र की मोदी सरकार में निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी, मीनाक्षी लेखी, रेणुका सिंह सरुता, साध्वी निरंजन ज्योति, शोभा कारंदलजे, भारती पवार, अनुप्रिया पटेल, दर्शना जरदोष, प्रतिमा भौमिक आदि महिला मंत्री हैं.

मोदी सरकार में कुल 11 महिला मंत्री हैं लेकिन इस जघन्य वारदात पर इनमें से किसी का कोई बयान नहीं आया है.

एक महिला के साथ हुई इस लोमहर्षक घटना पर जब ये लोग कोई ठोस एक्शन लेना तो दूर… न्याय दिलाने की मांग भी नहीं कर सकती हैं, तब इनके होने ने होने से क्या फर्क पड़ता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + 6 =