अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के झूठ से आजिज़ आकर अमेरिका के कई टीवी चैनलों ने उनका लाइव भाषण बंद कर दिया। टीवी चैनलों ने कहा कि राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप गलत सूचनाएं फैला रहे थे और लोगों को भड़का रहे थे।

दरअसल, गुरुवार की देर रात अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने भाषण के लाइव कवरेज के दौरान एक के बाद एक ‘झूठ’ बोल रहे थे।

अमेरिका के कई टीवी चैनलों को ट्रंप का ये झूठ हज़म नहीं हुआ और चैनलों ने उनके लाइव प्रसारण को बीच में ही बंद कर दिया।

प्रसारण को बंद करने वाले चैनलों का कहना है कि ट्रंप चुनावों में अपनी हार को देखते हुए कई मनगढ़ंत आरोप लगा रहे थे और चैनलों के ज़रिए झूठी फैला रहे थे।

झूठ बोलने पर चैनलों द्वारा राष्ट्रपति ट्रंप के प्रसारण को रोके जाने की भारत में जमकर तारीफ़ हो रही है। सोशल मीडिया पर कई लोग ये सवाल उठा रहे हैं कि क्या भारत की मीडिया भी झूठ बोलने वाले नेताओं के साथ ऐसा कर सकती है?

अभिनेता एवं कॉमेडियन वीर दास ने भी अमेरिकी मीडिया की तारीफ़ करते हुए भारतीय मीडिया को कटघरे में खड़ा किया है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “किसी एक भारतीय मीडिया हाउस या नेटवर्क का नाम बताइए जो किसी नेता द्वारा ग़लत एवं ख़तरनाक सूचना दिए जाने पर ऐसा करना चाहे”।

डोनाल्ड ट्रंप का चुनाव संपन्न होने के बाद यह पहला सार्वजनिक संबोधन था। अपने 17 मिनट के भाषण के दौरान उन्होंने कई बार भड़काऊ बयान दिए और कई तथ्‍यहीन दावे किए। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि डेमोक्रेट्स “अवैध वोट” का इस्तेमाल कर “हमसे चुनाव चोरी करने” की कोशिश कर रहे हैं।

सीएनएन के जैक टेप्‍पर ने कहा, ‘अमेरिका के लिए कितनी दुखद रात है जब उन्‍हें अपने राष्‍ट्रपति से यह सुनने को मिल रहा है जो लोगों पर चुनाव पर कब्‍जा करने का झूठा आरोप लगा रहे हैं।

वहीं एमएसएनबीसी के एंकर ब्रायन विलियम्‍स ने कहा, ‘ओके, हम यहां पर एक बार फिर से एक असामान्‍य स्थिति में हैं और न केवल अमेरिका के राष्‍ट्रपति को टोक रहे हैं बल्कि अमेरिका के राष्‍ट्रपति के बयानों को सही कर रहे हैं।’

इसके बाद नेटवर्क ने फौरन राष्ट्रपति के लाइव प्रोग्राम को बंद कर दिया। सीएनएन और एमएसएनबीसी के अलावा NBC और ABC न्यूज ने भी राष्ट्रपति ट्रंप के झूठ से आजिज़ आकर उनके लाइव भाषण को बंद कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − 5 =