पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता ममता बनर्जी ने आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि वह अपनी पारंपरिक भवानीपुर सीट के अलावा नंदीग्राम विधानसभा से भी चुनाव लड़ेंगी।

ममता बनर्जी ने ये ऐलान सोमवार को नंदीग्राम में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए किया। ममता बनर्जी के इस ऐलान के बाद चुनाव और भी दिलचस्प हो गया है।

दरअसल, नंदीग्राम का प्रतिनिधित्व हाल ही में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में आए सुवेंदु अधिकारी कर चुके हैं। अधिकारी ने साल 2016 में नंदीग्राम से जीत हासिल की थी।
इलाके में अधिकारी का ख़ासा दबदबा है। वो अब टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं।

ऐसे में माना जा रहा था कि ये सीट बीजेपी के खाते में आसानी से चली जाएगी, लेकिन अब ममता के इस ऐलान के बाद बीजेपी के समीकरण बिगड़ सकते हैं।

ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में अपने भाषण में कहा कि यदि मुझसे गलती हो जाये, तो मुझे थप्पड़ मार लेना, लेकिन मुंह मत फेरना।

उन्होंने पूछा कि किसानों के लिए इतना काम कौन करेगा? कोई मुझे चोर कहेगा, तो मैं भी उसे चोर नहीं कहूंगी। सिर्फ इतना कहूंगी, ‘ईश्वर, अल्लाह क्षमा कर दो।

ममता बनर्जी ने कहा कि वह सभी को मुफ्त में खाद्य सामग्री देंगी। ऐसा कुछ नहीं है, जो वह नहीं दे पायी हैं। सब कुछ दिया है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस को सभी 294 सीटों पर चुनाव लड़ना होगा। वह सुब्रत बक्शी से कहेंगी कि उनका नाम नंदीग्राम के प्रत्याशी की सूची में रखें।

बता दें कि नंदीग्राम आंदोलन के बाद 2009 में हुए विधानसभा उपचुनाव में टीएमसी ने पहली बार नंदीग्राम में अपना खाता खोला था। टीएमसी की फिरोजा बीबी ने यहां से जीत हासिल की थी। सुवेंदु अधिकारी 2016 में नंदीग्राम से विधायक बने और ममता सरकार में मंत्री बनाए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 2 =