उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के एक्सीडेंट पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सवाल उठाया है। सिंह ने कहा कि खबर सुनकर हिल गया हूं। क्या हम जंगल राज में जी रहे हैं?

अगर हम अपनी बेटियों की रक्षा नहीं कर सकते हैं और उन्हें न्याय नहीं दे सकते हैं तो हम एक राष्ट्र के रूप में कलंक हैं। उम्मीद है कि अदालत मामले का संज्ञान लेकर जांच का आदेश देगी। हर कीमत पर कानून बरकरार रखा जाना चाहिए।

दरअसल बीते रविवार को उन्नाव गैंगरेप पीड़िता रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलकर लौट रही थी। ठीक उसी वक़्त रायबरेली हाईवे के पास उनकी कार की टक्कर उलटी दिशा से आई एक ट्रक से हो गई। इस हादसे में पीड़िता की चाची, मौसी और ड्राइवर की मौत हो गई। जबकि पीड़िता और उसके वकील गंभीर रूप से घायल हैं।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता पर हुए हमले पर पीड़िता की माँ ने आरोप लगाया था कि इस एक्सीडेंट का ज़िम्मेदार बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके लोग है। ऐसे में पुलिस ने इसी मामले पर कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

बताते चले कि हादसे में पीड़िता की मां और चाची की मौत हो गई। जबकि पीड़िता की हालत बेहद नाजुक है। उसे इलाज के लिए लखनऊ ट्रामा सेंटर भेजा गया है। पीड़िता के वकील की भी हालत नाजुक बनी हुई है।

गौरतलब हो कि उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने आरोप लगाया था कि बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सेंगर ने उसके साथ 4 जून, 2017 को अपने आवास पर दुष्कर्म किया था। जहां वो अपने एक रिश्तेदार के साथ नौकरी मांगने के लिए गई थी।