मोदी सरकार की तमाम चेतावनी के बाद भी चीन अपनी हरकतों से बाज़ आता नहीं दिखाई दे रहा। चीनी सैनिकों ने एक बार फिर भारतीय सीमा में घुसने का प्रयास किया।

जिसके चलते चीनी सैनिकों और भारतीय जवानों के बीच झड़प हो गई। इस झड़प में भारत के 4 जवान और चीन के 20 सैनिकों के घायल होने की ख़बर है।

जानकारी के मुताबिक, ये झड़प 20 जनवरी को हुई थी, जिसकी पुष्टी भारतीय सेना ने अब एक बयान जारी कर की है।

भारतीय सेना ने अपने बयान में कहा, “यह स्पष्ट किया जाता है कि 20 जनवरी को सिक्किम के नाकू ला में भारतीय सेना और चीन के पीएलए सैनिकों के बीच मामूली झड़प हुई थी। इसे स्थानीय कमांडरों द्वारा स्थापित प्रोटोकॉल के अनुसार हल कर लिया गया था”।

बताया जा रहा है कि ये झड़प तब हुई जब चीनी सैनिकों ने सिक्किम के नाकू ला में बॉर्डर की यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया और उसके कुछ सैनिकों द्वारा भारतीय क्षेत्र में बढ़ने की कोशिश की गई।

चीनी सैनिकों के नापाक इरादों को भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया। भारतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों को वहां से खड़ेग भगाया।

सिक्किम के नाकू ला में चीनी सेना द्वारा घुसपैठ की कोशिश उस समय की गई है जब चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख से अपने 10 हजार जवानों को हटाया है।

सरकार के सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख के अलावा सिक्किम सहित कई स्थानों से अपनी तैनाती को कम किया है लेकिन भारतीय जवान अब भी डटे हैं। वे चीन की किसी भी हरकत का जवाब देने के लिए मुस्तैद हैं।

बता दें कि भारत और चीन के बीच पिछले साल 15-16 जून को लद्दाख की गलवान घाटी में झड़प हुई थी। एलएसी पर हुई इस झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल समेत 20 सैनिक शहीद हो गये थे।

भारत का दावा है कि चीनी सैनिकों का भी नुक़सान हुआ है लेकिन इसके बारे में चीन की तरफ़ से कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + nine =