एक तरफ जहां चीन एलएसी पर भारत के साथ शांति और अमन कायम करने का दावा कर रहा है। वहीं दूसरी तरफ चीन ने पीपल्स लिबरेशन आर्मी सीमा के पास अपनी सेना की ताकत और बढ़ा दी है।

ताजा तस्वीरों में पीएलए की इस चाल की पोल खुल गई है। दरअसल इन तस्वीरों में साफ तौर पर यह देखा जा सकता है कि सीमा पर चीन की पीएलए की एयरपोर्ट काशगर एयरपोर्ट पर तैनात की गई है।

इस संदर्भ में ओपन इंटेलिजेंट सोर्स की सैटेलाइट तस्वीरों में यह दिखाई दिया है कि एयरवेज पर चीन ने रणनीतिक बंबर और दूसरे एसेट भी तैनात किए हैं। आपको बता दें कि इस जगह से लद्दाख की दूरी को देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि चीन ने यह तैनाती भारत के साथ बढ़ रहे तनाव के चलते की है।

जानकारी के मुताबिक इन सैटेलाइट तस्वीरों में यह दिखाया गया है कि एयरवेज पर 6 शियान H-6 बॉम्बर हैं। जिनमें से दो 2 पेलोड के साथ हैं। इनके अलावा 12 शियान Jh-7 फाइटर बॉम्बर हैं। जिनमें से दो पर पेलोड हैं। वहीं, 4 शेनयान्ग J11/16 फाइटर प्लेन भी हैं जिनकी रेंज 3530 किलोमीटर है।

इससे पहले भी यह खबर सामने आई थी कि चीन ने भारत के साथ लगती सीमा के नजदीक कम से कम 8 एयरवेज एक्टिवेट किए हैं। जहां से वह युद्ध से संबंधित हर गतिविधियों को जारी रख सकता है।

गौरतलब है कि भले ही मोदी सरकार भारत चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच स्थिति सामान्य होने का दावा कर रही हो लेकिन चीन लगातार सीमा के नजदीकी इलाकों में चीनी सेना और युद्ध से संबंधित उपकरणों की तादाद बढ़ा रहा है। जिससे यह जाहिर हो रहा है कि चीन इस वक्त पीछे हटने के मूड में नहीं बल्कि भारत के साथ पंगा लेने के मूड में है।

इसी बीच भी खबर भी सामने आई है कि चीन ने लिपुलेख में भी चीनी सेना की तैनाती कर दी है। चीन ने PLA की एक बटालियन को उत्तराखंड में लिपुलेख के बिल्कुल नजदीक तैनात किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × five =