दिल्ली के कैंट इलाके में नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप और हत्या के बाद मंदिर के पुजारी ने जबरदस्ती शव का अंतिम संस्कार कर दिया। इस मामले में पुलिस ने पुजारी समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

बताया जाता है कि बच्ची पुराने नंगल इलाके में श्मशान घाट के करीब रहती थी। शाम को वह अपनी मां को बता कर श्मशान घाट में लगे वाटर कूलर से पानी भरने गई थी। वहीँ पर उसके साथ गैंगरेप किया गया।

आरोपियों को बचाने के लिए मंदिर के पुजारी ने आनन-फानन में बच्ची का अंतिम संस्कार भी करवा दिया।

दरअसल मंदिर के पुजारी का कहना था कि जब बच्ची वाटर कूलर से पानी भर रही थी। तो करंट लगने से उसकी मौत हुई है। लेकिन बच्ची के शरीर पर जलने के कुछ निशान थे। इसके अलावा उसके होंठ भी नीले पड़े हुए थे।

सोमवार शाम को इस मामले में एससी-एसटी कमीशन के साथ पुलिस से की मीटिंग हुई थी।

जिसके बाद आरोपियों पर गैंगरेप, हत्या, पॉक्सो एससी-एसटी एक्ट और जान से मारने की धमकी देने समेत कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मंदिर के पुजारी पर आरोप है कि उसने बच्ची के शव का अंतिम संस्कार माता-पिता की सहमति के बिना ही कर दिया। जिसके बाद गांव के लोग भड़क गए और उन्होंने आरोपियों के खिलाफ प्रदर्शन भी किया।

इस मामले में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। उन्होंने आज बच्ची के परिवार से मुलाकात भी की है।

चंद्रशेखर आजाद ने कहा है कि दिल्ली में यह सब हो रहा है। कानून व्यवस्था कहां है? दिल्ली के मुख्यमंत्री कहां है? देश के गृहमंत्री और प्रधानमंत्री कहां है? अभी हाथरस के जख्म भरे नहीं थे और दिल्ली में इस तरह की जगह घटना घटी है।

चंद्रशेखर आजाद का कहना है कि हमारी टीम इनका लीगल केस लड़ेगी। हम अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − eight =