झारखंड के धनबाद में जज की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने राज्य के शीर्ष अधिकारियों से एक हफ्ते के अंदर जांच रिपोर्ट सौंपने को कहा है।

ऐसा करने के पीछे वजह ये है कि पहले जिसे ‘हिट ऐंड रन’ केस समझा जा रहा था, वह सोची-समझी साजिश के तहत हत्यात जैसी दिखायी दे रही है।

जिला और सत्र न्यांयाधीश उत्तचम आनंद को बुधवार सुबह टहलने के दौरान एक टेम्पो ने टक्कर मार दी थी। सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद से केस में नए अनुमान लगाए जा रहे हैं।

हालांकि आरोपी टेम्पो ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। टेम्पोे चोरी का बताया जा रहा है।

गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्याक्ष विकास सिंह ने शीर्ष अदालत के सामने यह मुद्दा भी उठाया। प्रधान न्यायधीश एनवी रमना ने कहा कि मामला उनकी जानकारी में है।

विकास सिंह ने मामले को जब प्रधान न्याीयाधीश के सामने उठाया तब जवाब में सीजेआई रमना ने कहा कि, “उन्होंने झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस, महासचिव और रजिस्ट्रार जनरल से बात की है। हाई कोर्ट ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।

इसपर सिंह ने कहा कि वे हाई कोर्ट जाकर देखेंगे। उन्होंने मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की।

सिंह ने कहा कि ‘अगर कोई गैंगस्टकर की जमानत रद्द कर दे और उसकी इस तरह हत्या कर दी जाए तो देश में कोई न्या य व्यवस्था नहीं रह जाएगी।”

जज उत्तम आनंद बुधवार की सुबह वॉक पर निकले थे तभी सुबह करीब 5 बजे के आसपास एक सुनसान सड़क पर पीछे से टेम्पो आया नजर आता है और सीधे जज की ओर बढ़ता है। जज को ठोकर मारकर टेम्पो वहां से गायब हो जाता है।

आनंद वहीं घायल हालत में काफी देर तक पड़े रहे। बाद में उन्हें एक शख्स ने अस्पताल पहुंचाया जहां उनकी मौत हो गई। कई घंटों तक उनकी पहचान तक नहीं हो पाई थी।

एक जज का इस तरह इलाज के आभाव में दम तोड़ देना पूरे लोकतंत्र के लिए शर्मनाक है।

जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली बेंच के आगे विकास सिंह ने कहा है कि, ‘यह मामला सीबीआई के पास जाना चाहिए। ऐसे मामलों में लोकल पुलिस भी मिली हुई होती है।

यह हैरान करने वाला है। मॉर्निंग वॉक पर एक जज जाता है और उसे गाड़ी टक्कंर मार देती है। वो भी तब जब वह शहर के गैंगस्टर्स की जमानत याचिकाओं पर सुनवाई कर रहे थे।’

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मामले में पहले से थोड़ी तेजी आयी है। एक हफ्ते बाद जब जांच रिपोर्ट सामने आएगी, तब उम्मीद है कि जज उत्तम आनंद के मौत के कई गिरहें खुलेंगी और सच सामने आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 1 =