‘BJP वाले हर किसी को ऑफर करते है, सिर्फ बेवक़ूफ़ लोग ही उनकी बात में आते है। मेरे पास फोन कॉल आया था मुझे मंत्री पद के साथ पैसे दे रहे थे मैंने मना कर दिया। वो कई लोगों को 50 से 60 करोड़ देने की पेशकश कर चुके हैं।’

ये बयान है बहुजन समाज पार्टी की विधायक रमाबाई का जिनका कहना है कि BJP उन्हें पैसे और मंत्री पद दे रही है।

दरअसल मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर जिनमें से कांग्रेस को 114 सीटों पर जीत मिली थी, जो बहुमत के आंकडे से दो कम है। वहीं BJP को राज्य में 109 सीटों पर संतोष करना पड़ा था।

कांग्रेस को राज्य में सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत होती।

मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार के अल्पमत में होने के भाजपा के दावों के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायकों के साथ रविवार को बैठक थी। जिसमें कमलनाथ ने कहा था कि आप ही लोगों ने मुझे सीएम बनाया है, आप लोग ही बताएं, क्या मैं कुर्सी छोड़ दूं?

इस पर विधायकों ने एकजुट होकर उन पर भरोसा जताया और कहा कि सरकार पूरे पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।

PM मोदी भी अपनी मां-बाप की तीसरी संतान हैं, क्या रामदेव उनसे चुनाव लड़ने का अधिकार छीनेंगे?

बता दें कि प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने भी कांग्रेस में अंतर्कलह की ओर इशारा किया था। भाजपा की संस्कृति खरीद-फरोख्त और जोड़-तोड़ की नहीं रही है और न ही इन तरीकों से सरकार गिराने में भाजपा विश्वास करती है।

फोटो साभार- ANI