बिहार एक ड्राई स्टेट है जहाँ शराब बैन है। सीएम नीतीश कुमार ने इस फैसले पर खूब वाह वाही लूटी है। मगर चुनाव के वक़्त उन्हीं के गृह क्षेत्र नालंदा में शराब के 126 कार्टन बरामद किए गए हैं और एक शख्स को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। जिन्होंने बताया कि वो झारखंड के कोडरमा से शराब लेकर बिहार में देने जा रहा था मगर उससे पहले पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया।

दरअसल नालंदा लोकसभा सीट पर 19 मई को चुनाव होना है। जोकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का गृह क्षेत्र भी है। ऐसे समय में जहाँ चुनाव होने में कुछ दिन बचा हो वहां वोटरों को लुभाने के लिए अभी से तमाम हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। वोटरों को अवैध शराब सप्लाई कर लुभाने की कोशिश की जा रही है।

बिहार पुलिस ने इस बारें में जानकारी देते हुए कहा कि ये अवैध शराब झारखंड के कोडरमा से नूरसराय थाना क्षेत्र के जगदीशपुर तियारी में लाया गया था। जिसमें कई विदेशी शराब भी थी। जो बिहार में अलग-अलग जगहों पर सप्लाई किए जानी थी, लेकिन पुलिस ने उससे पहले अवैध शराब को अपने कब्ज़े में लिया।

गिरिराज बोले- हरे झंडों पर लगे बैन, RJD नेता बोले- पहले अपने आका की पार्टी JDU का झंडा बदलवाओ

ड्राईवर ने बताया कि नालंदा जिले के रजौली चेकपोस्ट और एक अन्य रास्ते पर वहां तैनात सिपाही को सिर्फ सौ रुपये दे देते हैं जिसके बाद वाहन वहां से पार करा दिया जाता है। इसके बाद बिहार के कई जिलों में शराब आराम से पहुंचा दिया जाता है।

सुशासन बाबू के नाम से जाने वाले नीतीश कुमार के गृह क्षेत्र में ही जब पुलिस 100 रुपये के बदले कानून ताक पर रख दे रही है। ऐसे में आखिर कैसे मान लिया जाए की बिहार में बहार है क्योंकि नीतीश कुमार है। अगर सरकार ने शराबबंदी की थी तो उसके लिए सख्ती भी करनी होती है आखिर कैसे सुशासन बाबू के राज में पुलिस मात्र 100रु में शराबबंदी को मानाने से ही इनकार कर दे रही है