BJP पांच राज्यों में हार के बाद मंथन करने में जुटी है। लोकसभा चुनाव से पहले ये हार बीजेपी के लिए एक खरोच है जो अगले चुनाव के रण में मोदी एंड टीम को चुनाव लड़ते वक़्त महसूस होगी।

मगर उससे पहले ही BJP के अपने सांसद विपक्षी नेता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तारीफ करते हुए नज़र आ रहें है, उदित राज ने कांग्रेस की जीत पर कहा कि इस बार राहुल गांधी दलितों के यहां खाना खाने नहीं गये थे देखिये उनकी पार्टी जीत गई।

उदित राज ने कहा कि पार्टी आलाकमान को समझना पड़ेगा की पार्टी आदिवासियों और दलितों की नाराजगी की वजह से हारी है।

पाटीदार आंदोलन छोड़ BJP में शामिल होने वाली रेशमा पटेल ने अमित शाह को बताया ‘घमंडी’, बोलीं- ये उनकी अहंकार की हार है

उन्होंने कहा कि सिर्फ आदिवासियों के यहां जाकर खाना खा लेने से उनकी मूर्तियां लगाने से अब वोट नहीं मिलने वाला है दलित समाज अब समझ चुका है की अगर कोई नेता उनके खाना खाने आता है तो उन्हें दलित होने या फिर उन्हें नीच समझा जा सकता है।

इसलिए राहुल ने किसी भी चुनाव प्रचार के दौरान किसी भी दलित के यहां खाना खाने नहीं गए और देखिए उनकी पार्टी जीत भी गई।

रिपोर्ट: मोदी की रैलियों वाली 70 फीसदी सीटें हार गई भाजपा, ‘मोदी लहर’ ही बनी BJP की मुसीबत!

BJP सांसद ने अपनी नसीहत देते हुए कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में आदिवासी और दलित फैक्टर बहुत बड़ा होगा। जिस पर पार्टी को काम करने की जरूरत है।   

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − thirteen =