एक तरफ तो देश कोरोना की महामारी से त्राहिमाम कर रहा है और तकलीफों के दौर से गुज़र रहा है, दूसरी ओर सत्ताधारी दल भाजपा के नेताओं के ऐसे ऐसे कारनामें सामने आ रहा है जिससे दुख की घड़ी में भी देश की जनता का अच्छा खासा मनोरंजन हो रहा है।

शरीर पर गोबर का लेप लगाने, भाभीजी पापड़ खाने और गौमूत्र पीकर कोरोना का इलाज करने वाली भाजपा के नेता अब हवन से कोरोना ठीक करने का दावा कर रहे हैं, वो भी सोफे पर बैठकर।

जानी मानी बॉलीवुड अभिनेत्री एवं उत्तर प्रदेश के मथुरा से भाजपा सांसद हेमा मालिनी का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो सोफे पर बैठकर हवन कर रही हैं।

हेमा मालिनी का कहना है कि जब से देश में कोरोना आया है, तब से मैं रोजाना हवन करती हूं. रोजाना हवन करने से वातावरण शुद्ध होता है।

वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि हेमा मालिनी सोफे पर बैठकर मंत्रोच्चार के साथ साथ हवन कर रही हैं।

हवन के उपरांत हेमा मालिनी बता रही हैं कि मैं पिछले एक साल से जब से कोरोना आया है, तब से निरंतर हवन कर रही हूं, पहले भी करती थी पर कभी कभी, अब सुबह शाम दोनों वक़्त करती हूं. हवन करने से वातावरण में शुद्धि आती है।

हेमा मालिनी इस वीडियो में दावा कर रही हैं कि यह बहुत महत्वपूर्ण है. हवन के धुएं में घी, नमक, राई का पत्ता है, इससे पूरा वातावण अच्छा और स्वच्छ होता है।

आप लोग भी इसे ज़रूर करिए, इसके करने से कोरोना और अन्य दूसरी बीमारियां दूर होती हैं।

हेमा मालिनी संसद सदस्य हैं। उनके ऊपर इस महामारी से लड़ने एवं देश को बचाने की जिम्मेदारी है।

कायदे से उन्हें देशवासियों को कोरोना से बचने, बचाने के लिए कोरोना वैक्सीन लेने के लिए जागरूक करना चाहिए लेकिन वो इसकी बजाय हवन करने की अपील लोगों से कर रही हैं।

हवन करने से कोरोना दूर हो जाएगा या कोरोना का प्रकोप खत्म हो जाएगा, ऐसी कोई बात अभी तक मेडिकल साइंस ने नहीं बताई लेकिन हेमा मालिनी ऐसा करने की अपील लोगों से कर रही हैं।

हवन पूजन विशुद्ध रूप से आस्था का विषय है। हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाला प्रत्येक व्यक्ति हवन करता है और अपने इष्ट की आराधना करता है लेकिन आस्था के नाम पर अंधविश्वास कितना जायज है, वह भी एक संसद सदस्य के द्वारा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + seven =