मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले के माधवनगर स्थित कोविड 19 अस्पताल में भाजपा नेता जितेंद्र शेरे की मौत हो गई जिसके बाद भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल मचाया।

दरअसल भाजपा नेता ने अपनी मौत से थोड़ी देर पहले खुद सोशल मीडिया में अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने एवं कुव्यवस्था पर एक पोस्ट किया था। इसके थोड़ी ही देर बाद सचमुच भाजपा नेता जितेंद्र शेरे की मौत हो गई।

फिर क्या था, बवाल शुरु हो गया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने माधव नगर अस्पताल में जमकर गुंडागर्दी की।

स्थानीय विकास प्राधिकरण के सीईओ और अस्पताल के प्रभारी सुजान सिंह रावत को मारने के लिए भी कार्यकर्ताओं ने उन्हें खदेड़ा। उन्होंने खुद को एक कमरे में कैद कर लिया लेकिन गुस्साए भाजपाईयों ने दरवाजे को भी तोड़ दिया।

भाजपाईयों ने पुलिसकर्मियों के साथ भी मारपीट की। अस्पताल पर पत्थर फेंके। करीब 20 मिनट तक भाजपाईयों ने अस्पताल में उपद्रव किया।

वहीं अस्पताल प्रशासन ने कहा कि जिन मरीजों की मौत हुई है, वो ऑक्सीजन की कमी की वजह से नहीं बल्कि फेफड़े में इंफेक्शन की वजह से हुई है लेकिन भाजपा कार्यकर्ता यह सुनने को तैयार नहीं थे।

एबीपी न्यूज के पत्रकार ब्रजेश राजपूत ने हंगामे का वीडियो ट्वीटर पर पोस्ट करते हुए लिखा कि उज्जैन में भाजपा नेता जितेंद्र शेरे की मौत के बाद माधव नगर अस्पताल में भाजपा के नेताओं ने की तोड़फोड़ और हंगामा. ये बिल्कुल नहीं होना चाहिए।

 

अस्पताल में भाजपा नेताओं की गुंडागर्दी पर लोगों ने तुरंत प्रतिक्रिया जाहिर करनी भी शुरु कर दी।

फेकूनामा नामक एक यूजर ने लिखा है कि हरियाणा में जब किसान आंदोलन चल रहा तो कुछ लोगों ने ऐसे ही सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था। तब उन्हें देशद्रोही करार दिया गया था। अब इन भाजपा कार्यकर्ताओं को भी देशद्रोही या राष्ट्रवादी का सर्टिफिकेट मिलना चाहिए।

वहीं कासिफ काकवी नामक एक यूजर ने ट्वीटर पर सवाल पूछा है कि क्या अस्पताल में तोड़फोड़ करने वाले भाजपा नेताओं पर भी NSA लगेगा ?

एक बात तो तय है कि इसी प्रकार से अस्पताल में तोड़फोड़ और अराजकता की घटना अगर किसी दूसरी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने की होती तो उन्हें तुरंत देशद्रोही और गद्दार का सर्टिफिकेट देने की होड़ मच जाती।

गोदी मीडिया चीख चीख कर उन्हें पाकिस्तानी और खालिस्तानी बताना शुरु कर देती लेकिन देश में एक बार फिर से जब कोरोना ने कहर बरपाना शुरु किया है, वैसे मुश्किल दौर में भाजपा कार्यकर्ताओं की कोरोना अस्पताल में तोड़फोड़ और गुंडागर्दी को क्या नाम दिया जाए?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × five =