भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों में चल रहे तनाव के बीच चीन ने अरुणाचल प्रदेश में भारत की सीमा में घुसकर एक गाँव बसा लिया है। ये वो इलाका है जिसे लेकर बीते काफी समय से दोनों देशों के बीच विवाद चल रहा है।

विपक्षी दलों द्वारा चीन की इस हरकत पर भारत सरकार की तरफ से कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की जा रही है लेकिन इससे इतर भाजपा सरकार फल फ्रूट का नाम बदलकर लोगों को एक बार फिर से बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रही है।

दरअसल दुनिया भर में चीन को ड्रैगन के नाम से जाना जाता है और गुजरात की भाजपा सरकार द्वारा दुनिया भर में बिकने वाले ड्रैगन फ्रूट का नाम बदलने का ऐलान किया गया है।

भाजपा का कहना है कि ड्रैगन फ्रूट कमल जैसा दिखता है। इसलिए हम अब इस ग्रुप का नाम बदलकर कमलम रख रहे हैं। सरकार ने कहा है कि किसी भी फ्रूट का नाम ड्रैगन नहीं होना चाहिए।

एनडीटीवी के पत्रकार सोहित मिश्रा ने गुजरात के मुख्यंमंत्री के इस बयान को शेयर करते हुए भाजपा पर चुटकी ली है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “अभी केवल ड्रैगन फ्रूट का नाम बदला है, अगर चीन अब भी नहीं सुधरता तो अरुणाचल प्रदेश में उनकी ओर से बनाए गए गाँव का नाम भी बदला जाएगा.. भारत माता की जय!!”

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच दोस्ती का रिश्ता बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई बार चीन का दौरा किया है। लेकिन इसके विपरीत चीन ने हमेशा भारत पर कब्जा जमाने की कोशिश की है।

बीते साल लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद भारत सरकार ने चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया था। अब देश की जनता चीन द्वारा की गई इस हरकत पर भारत सरकार के जवाब का इंतज़ार कर रही है।

बता दें, अरुणचल प्रदेश में चीन द्वारा कब्जाई गई जमीन की सेटेलाइट तस्वीरें भी सामने आई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − nineteen =