महाराष्ट्र में धार्मिक स्थलों को खासतौर पर मंदिरों को ना खोले जाने पर भाजपा और भाजपा समर्थकों द्वारा विरोध किया जा रहा है।

राज्य में सत्तारूढ़ ठाकरे सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वो जानबूझकर धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति नहीं दे रही। इस मामले में सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने भी आंदोलन करने का ऐलान किया था।

इसी बीच खबर सामने आई है कि कर्नाटक में भाजपा सरकार द्वारा दी गई अनुमति के बाद एक प्राचीन मंदिर को गिरा दिया गया है। जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रही है।

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि मंदिर को ढहा दिया गया। लेकिन भाजपा शासित राज्य में मंदिर को तोड़े जाने की खबर को किसी भी न्यूज़ चैनल पर दिखाया नहीं गया है। ना ही किसी हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध किया।

वहीं अगर किसी गैर भाजपा शासित राज्य में इस तरह से मंदिर को गिराया गया होता। तो अब तक राज्य सरकार के खिलाफ हिंदूवादी संगठनों ने मोर्चा खोल दिया होता।

इस मामले में कांग्रेस नेता डॉ नितिन राउत ने कर्नाटक की भाजपा सरकार पर हमला बोला है।

उन्होंने मंदिर को गिराए जाने की वीडियो को अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर शेयर कर लिखा है कि

कर्नाटक के मैसूर जिले में स्थित एक प्राचीन हिन्दू मंदिर को राज्य की भाजपा सरकार ने ध्वस्त कर दिया।

महाराष्ट्र में कोरोना संकट के बीच मंदिर खोलने के लिए आंदोलन करने वाले भाजपाईयों को ये नहीं दिखेगा। क्योंकि उनका विरोध सेलेक्टिव है।

 

आपको बता दें कि मैसूर जिले में स्थित इस प्राचीन मंदिर से जुड़ी कोई जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है। ना ही इस मंदिर का नाम पता चल पाया है।

लेकिन सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता द्वारा शेयर की गई इस जानकारी से पता चल पाया है कि मैसूर में इस मंदिर को ध्वस्त किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + 19 =