अगले साल पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं जिसके लिए भारतीय जनता पार्टी ने अभी से ही तैयारियां शुरू कर दी हैं। दरअसल पश्चिम बंगाल एक ऐसा राज्य है। जहां भाजपा का जीत हासिल करना लगभग नामुमकिन माना जाता है।

इसी बीच देश के गृहमंत्री अमित शाह इस वक्त पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं। जहां वह राज्य के मतदाताओं को लुभाने के लिए तरह-तरह के दावे कर रहे हैं।

इस दौरान अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में अमित शाह ने दलित-आदिवासी कार्ड चला है। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। जिसमें गृहमंत्री अमित शाह आदिवासी परिवार के घर जाकर खाना खा रहे हैं।

पश्चिम बंगाल को जीतने के लिए अमित शाह पहले भी काफी जोर आजमाइश कर चुके हैं। लेकिन उनकी सारी रणनीतियां ममता बनर्जी के आगे फेल होती रही है।

इस मामले में भीम आर्मी के संस्थापक और आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है।

उन्होंने अमित शाह की तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा है कि “यूपी में दलित बेटी के शव को आधी रात में कचरे की तरह जलवाने वालों को बंगाल में दलितों आदिवासियों के घर भोजन करना शोभा नहीं देता।

दलितों पर हो रहे ज़ुल्म पर मौन धारण किए अमित शाह जी बताएं आप इंसानों में गैर बराबरी करने वाली जाति व्यवस्था के खिलाफ ‘जातिमुक्त भारत’ पर कब बात करेंगे?”

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में हुए हाथरस गैंगरेप मामले में योगी सरकार पर आरोपियों को बचाने के आरोप लग चुके हैं।

हाथरस गैंगरेप मामले में आरोपी उच्च जाति से संबंध रखते हैं। भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने हाथरस मामले में योगी सरकार पर पीड़िता के परिवार से भेदभाव करने के आरोप लगाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + 8 =