5 अगस्त को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन और शिलान्यास करने जा रहे हैं। इस पूरे कार्यक्रम की तैयारियां इस वक्त अयोध्या में जोरों शोरों से हो रही है। गौरतलब है कि इस कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े दिग्गज नेता और संत समाज के बड़े धर्मगुरु शामिल हो रहे हैं।

वहीँ अयोध्या में राम मंदिर शिलान्यास से ठीक एक दिन पहले भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल एस के विधायक चौधरी अमर सिंह ने इस कार्यक्रम में पिछड़े वर्ग अनुसूचित जातियों तथा जनजातियों को वंचित रखने का आरोप लगाया है।

अपना दल एस के विधायक चौधरी अमर सिंह का कहना है कि ऐसा लगता है कि भगवान राम सिर्फ भाजपा के ही हैं।

मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि मुझे एक चीज और सोचने पर विवश हो गया कि राम जन्मभूमि के आंदोलन में जिन लोगों ने संघर्ष किया है, उनका चेहरा कहीं नहीं दिख रहा है। उन्हें वंचित किया जा रहा है।

इसके साथ ही चौधरी अमर सिंह ने यह आरोप भी लगाया कि राम मंदिर निर्माण के लिए जो ट्रस्ट बनाया गया है। उसमें पिछड़े वर्ग अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लोगों को जगह नहीं दी गई है।

भाजपा की यह हरकत दर्शाती है कि भगवान श्री राम संपूर्ण सनातन धर्म के नहीं बल्कि सिर्फ भाजपा के ही हो चुके हैं। इस दौरान उन्होंने देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को राम मंदिर भूमि पूजन के लिए आमंत्रित ना किए जाने का मुद्दा भी उठाया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल के दौरान तत्कालीन राष्ट्रपति बूटा सिंह ने राम मंदिर का शिलान्यास किया था। जबकि वह अनुसूचित जाति से संबंध रखते थे।

पीएम मोदी पर तंज कसते हुए चौधरी अमर सिंह ने कहा कि उन्हें जितनी जल्दी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास की है। अगर इतनी तेजी गरीबों को रोजगार, आवास और पेंशन देने में दिखाएं होती तो अच्छा होता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 + 19 =