• 867
    Shares

पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली सेलेक्टिव टीम द्वारा कल 10 जनवरी को आलोक वर्मा को सीबीआई चीफ़ पद से हटा दिया गया है। उनके हटाए जाने के बाद कल ही रात 9 बजे एम नागेश्वर राव को फिर से सीबीआई का अंतरिम निदेशक बना दिया गया।

जब आलोक वर्मा मोदी सरकार द्वारा जबरन छुट्टी पर भेज दिए गए थे तब भी नागेश्वर राव को ही सरकार ने सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया था।

शुक्र है आलोक वर्मा को मोदी ने हटाया, अमित शाह ने हटाया होता तो ‘जज लोया’ वाला हाल हो जाताः राम पुनियानी

बड़ी ख़बर ये है कि नागेश्वर राव ने कुर्सी सम्भालते ही आलोक वर्मा के सारे फ़ैसले, अधिकारियों के किए गए तबादले रोक दिए हैं। सीबीआई के अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव ने 8 तारीख़ के पहले की स्थिति फिर से बहाल कर दी है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आलोक वर्मा ने फिर से सीबीआई चीफ़ का पद सम्भाला था। आते ही उन्होंने कुछ अधिकारियों के तबादले किए थे।

मोदी जी, अगर आलोक वर्मा ‘भ्रष्टाचारी’ हैं तो जेल भेजने के बजाए उन्हें फायर DG क्यों बनाया गया

वर्मा ने उन अधिकारियों के तबादले रोक दिए थे जो राकेश अस्थाना के ख़िलाफ़ जाँच कर रहे थे।

लेकिन अंतरिम चीफ़ नागेश्वर राव ने फिर से उन अधिकारियों के तबादले करके 8 तारीख़ वाली स्थिति बहाल कर दी है।