मशहूर स्टैंड अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी बीते कुछ वक्त से काफी सुर्खियों में बने हुए हैं। हिंदूवादी संगठनों द्वारा मुनव्वर फारूकी की कॉमेडी शो का विरोध किया जा रहा है। उन पर देशद्रोही होने के आरोप लगाए जा रहे हैं।

दरअसल कॉमेडी शो के दौरान हिंदू देवी देवताओं का अपमान करने के आरोप में मुनव्वर फारूकी एक महीना जेल में भी बिता चुके हैं

इसी बीच कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में मुनव्वर फारूकी का एक शो कैंसिल कर दिया गया है।

दरअसल बेंगलुरु पुलिस द्वारा उनके शो को अनुमति न दिए जाने के बाद अब मुनव्वर फारूकी ने तंग आकर स्टैंड अप कॉमेडी छोड़ने के संकेत दे दिए हैं।

बताया जा रहा है कि बीते 2 महीने में मुनव्वर फारूकी के 12 शो कैंसिल हो चुके हैं।

अब उन्होंने एक सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए उन्होंने लिखा है कि “उन्हें उस जोक के लिए जेल भेजा गया। जो उन्होंने कभी किया ही नहीं।

जेल भेजने से लेकर मेरे शो कैंसिल करने तक मैंने कुछ गलत नहीं किया है। इनकी नफरत का बहाना बन गया हूं। एक कलाकार होने के नाते मैं हार गया हूं और नफरत की जीत हो गई है।”

सोशल मीडिया पर मुनव्वर फारूकी द्वारा किए गए इस पोस्ट के बाद कई कलाकार और राजनीतिक हस्तियां उनके समर्थन में आ रही है।

इसी कड़ी में कांग्रेस नेता अलका लांबा ने भी ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर निशाना साधा है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “यही हमारा नया संघ का दिया भारत है, जो 2014 में ही आजाद हुआ है।”

इस ट्वीट के जरिए कांग्रेस नेता अलका लांबा ने आरएसएस भाजपा के साथ-साथ भाजपा समर्थक अभिनेत्री कंगना रनौत पर भी निशाना साधा है।

जिन्होंने हाल ही में यह बयान दिया था कि वास्तविक तौर पर भारत साल 2014 में ही आजाद हुआ है।

आपको बता दें कि इससे पहले हिंदूवादी संगठन बजरंग दल की धमकियों के चलते बीते महीने मुंबई में भी मुनव्वर फारूकी का एक कॉमेडी कार्यक्रम रद्द किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − fifteen =